पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विपक्ष का सरकार पर निशाना:भाजपा प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी का CM भूपेश से सवाल- हमारे संगठन पर क्यों टिप्पणी करते हैं, क्या हमसे डरते हैं ?

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तस्वीर रायपुर की है। कुशाभाउ ठाकरे परिसर में बैठक के बाद डी पुरंदेश्वरी वापस लौट गईं। विधानसभा में भाजपा नेताओं के तौर-तरीकों पर भी उनकी नजर रहेगी। - Dainik Bhaskar
तस्वीर रायपुर की है। कुशाभाउ ठाकरे परिसर में बैठक के बाद डी पुरंदेश्वरी वापस लौट गईं। विधानसभा में भाजपा नेताओं के तौर-तरीकों पर भी उनकी नजर रहेगी।
  • रविवार को विधायक दल की बैठक के बाद प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी ने दिया बयान
  • दो दिनों तक ली बैठक, पार्टी के नेताओं को आंतरिक विवाद खत्म करने की दी नसीहत
  • बजट सत्र में कानून व्यवस्था, वित्तिय प्रबंधन, किसानों की समस्या, भू माफिया जैसे मुद्दें गर्माने के आसार

छत्तीसगढ़ भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी ने रविवार को भाजपा नेताओं के साथ खास बैठक की । इन बैठकों के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर निशाना साधा । दरअसल कुछ दिनों पहले भूपेश बघेल ने कहा था कि डी पुरंदेश्वरी के हंटर की वजह से भाजपा के नेता एक्टिव हुए हैं और सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। इस पर डी पुरंदेश्वरी ने जवाब देते हुए कहा कि आखिर भूपेश बघेल भारतीय जनता पार्टी, हमारे संगठन पर टिप्पणी क्यों करते हैं क्या भूपेश बघेल हम से डरते हैं।

सीनियर नेताओं का जिम्मा
रविवार को माना स्थित कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में भारतीय जनता पार्टी की विधायक दल की बैठक भी हुई। इस बैठक में तय किया गया कि छत्तीसगढ़ में आने वाले बजट सत्र में किस तरह से विपक्ष सरकार को घेरेगा। क्या-क्या मुद्दे होंगे और कौन उन मुद्दों को लेकर सरकार के सामने मजबूती के साथ खड़ा होगा। बैठक में तय किया गया कि कृषि, स्वास्थ्य, शराबबंदी, कानून व्यवस्था, भू और रेत माफिया, अवैध खनन जैसे विषयों पर विपक्ष के सीनियर नेता सरकार से सवाल पूछते दिखेंगे।

तो जीरो हो जाएगा बजट
पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने बैठक खत्म होने के बाद मीडिया से चर्चा में कहा कि जनता के मुद्दों को विधानसभा के अंदर उठाया जाएगा। मुझे लगता है कि आने वाले दिनों में छत्तीसगढ़ में जीरो बजट होगा । यानी कि विभागों को सिर्फ पेमेंट और पेंशन के लिए ही बजट अलॉट किया जाएगा । सरकार कर्ज में डूब चुकी है । वित्तीय कूप्रबंधन की वजह से यह हालात बने हैं । कर्ज का बोझ इतना ज्यादा है कि सरकार विकास के कामों को ठप कर चुकी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लूट, हत्या, बलात्कार जैसी घटनाएं भी बढ़ी हैं इस पर भी सरकार से जवाब विधानसभा में मांगा जाएगा।

आपसी कलह दूर करने की नसीहत
सोशल मीडिया पर हाल ही में भारतीय जनता पार्टी में हुई नियुक्तियों को लेकर भाजपा के नेताओं ने ही सवाल खड़े किए थेञ इसके अलावा पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर और भाजपा नेता भूपेंद्र सवन्नी के बीच वीवाद की खबरें आ चुकी हैं। दोनों केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी के कार्यक्रम के दौरान आपस में भिड़ गए थे। इन तमाम मामलों पर भी प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी ने नेताओं से सीधे बातचीत की। उन्होंने संगठन को मजबूत करने और आपसी एकजुटता को बढ़ाने की नसीहत दी । मीडिया से भी बातचीत में उन्होंने यह बात कबूली की पार्टी के अंदर कुछ लोगों में आपसी विचारों का मतभेद हो सकता है लेकिन इसे दूर किया जा रहा है।