पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शहर में बेकाबू भीड़:कोविड प्रोटोकाॅल हाशिए पर; महीनेभर बाद मास्क कार्रवाई शुरू हुई तो पहले दिन सात सौ फंसे

रायपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ये भीड़ सप्रे शाला मैदान में चल रही फुटबाल स्पर्धा की है। सिर्फ यही एक नहीं, हर तरह के इवेंट में ऐसी ही भीड़ जुटने लगी है। - Dainik Bhaskar
ये भीड़ सप्रे शाला मैदान में चल रही फुटबाल स्पर्धा की है। सिर्फ यही एक नहीं, हर तरह के इवेंट में ऐसी ही भीड़ जुटने लगी है।

दूसरी लहर के कमजोर पड़ने और राजधानी में पिछले तकरीबन एक माह से कोरोना के नए केस दो अंकों में निकलने की वजह से राजधानी में कोरोना प्रोटोकाॅल, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियम हाशिए में चले गए। बाजारों से लेकर हर जगह भीड़ बढ़ी है और माॅल तथा एक-दो जगहों को छोड़कर कहीं भी कोविड नियमों का पालन नहीं हो रहा है।

इसे ध्यान में रखते हुए प्रशासन और नगर निगम ने मिलकर बुधवार को तकरीबन एक माह बाद मास्क पर जुर्माना फिर शुरू कर दिया। यह कार्रवाई पहले दिन महज दो-तीन घंटे ही चली लेकिन इस दौरान 698 लोग बिना मास्क के पकड़ में आ गए। उनसे करीब 65 हजार रुपए जुर्माना वसूला गया है।

राजधानी में मास्क नहीं पहनने पर कार्रवाई जून के पहले हफ्ते शुरू हुए अनलाॅक के बाद से बंद थी। कोरोना संक्रमण के मामले भी तेजी से घट रहे थे, इसलिए मास्क के मामले में सबसे पहले लापरवाही शुरू हुई। इस बीच, दो दिन पहले केंद्र से राज्य को एडवाइजरी भेजी गई कि बाजारों तथा अन्य सार्वजनिक स्थानों और पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर सख्ती बरती जाए।

इन सभी बातों पर विचार-विमर्श कर करीब 35 दिन बाद शहर के सभी 10 जोन के 55 से ज्यादा चौराहों और मुख्य सड़कों पर नगर निगम की टीमें बिना मास्क वालों पर कार्रवाई के लिए उतर गईं और दोपहर करीब 2 बजे तक चली जांच में ही 698 लोग फंसे।

फिलहाल सौ, अब बढ़ेगा जुर्माना

पहले दिन शहर में मास्क नहीं पहनने वालों से औसतन 100 रुपए जुर्माना वसूला गया। हालांकि निगम अफसरों का कहना है कि गुरुवार से 200 रुपए वसूले जाएंगे और बाद में यह बढ़ाकर 500 रुपए भी किया जा सकता है। बिना मास्क जुर्माने को लेकर कई जगह विरोध भी हुआ, लेकिन कहीं भी अप्रिय स्थिति निर्मित नहीं हुई।

खबरें और भी हैं...