वर्चुअल बैठक में फैसला:पुलिस व सुरक्षा बलों के मेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद्द, काेरोना रोकने में करेंगे मदद

रायपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राज्यपाल, सीएम और सुरक्षा बलों के प्रमुखों की वर्चुअल बैठक में महत्वपूर्ण फैसला

प्रदेश में सुरक्षा बलों के जवान, भूतपूर्व सैनिक और एनसीसी कैडेट कोरोना से निपटने में पूरी मदद करेंगे। इसके लिए पुलिस के साथ ही सुरक्षा बलों के मेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। राज्यपाल अनुसुइया उइके की अध्यक्षता में बुधवार को वर्चुअल बैठक में यह फैसला हुआ।

इसमें सीएम भूपेश बघेल, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू के अलावा डीजीपी और केंद्रीय सुरक्षा बलों के छत्तीसगढ़ के प्रमुख भी शामिल हुए। एनसीसी के डिप्टी कमांडर ने बताया कि राज्य में 8 हजार सीनियर कैडेट हैं। प्राथमिकता से इनका वैक्सीनेशन कराया जाए, ताकि इनकी सेवाएं कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए ली जा सके। राज्यपाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए सबको एकजुट होकर काम करने की जरूरत है। स्थिति के नियंत्रण और जरूरतमंदों को मदद पहुंचाने में शासन-प्रशासन लगा हुआ है।

इसमें सभी के सहयोग की भी आवश्यकता है। सीएम भूपेश ने एनसीसी के कैडेट्स से सोशल मीडिया प्लेटफार्म के जरिए कोरोना की रोकथाम, वैक्सीनेशन और प्रोटोकाल के बारे में लोगों को जागरूक करने व नकारात्मक सूचनाएं पोस्ट करने वाले लोगों को समझाइश देने की बात कही। मुख्यमंत्री ने एनसीसी कैडेट्स से अपने आसपास के इलाके के कोरोना मरीजों से नियमित रूप से मोबाइल से संपर्क कर उनका मनोबल बढ़ाने और जरूरतमंदों की मदद के लिए नेटवर्क तैयार करने कहा।

उन्होंने कहा कि कोरोना टीकाकरण को लेकर लोगों के मन से संशय एवं भ्रम को दूर किया जाना चाहिए। संक्रमित लोगों को तत्काल कोरोना टेस्ट कराने, कोविड के लक्षण वाले एवं होम आइसोलेशन में रह रहे जो लोग नियम का पालन नहीं कर रहे हैं उनके बारे में स्थानीय प्रशासन को जानकारी दें। रेमडेसिविर एवं अन्य दवाएं अस्पतालों को उपलब्ध करायी जा रही है। इसकी कालाबाजारी अथवा हास्पिटल की मनमानी तथा बाहर से आने वालों की सूचना भी स्थानीय प्रशासन को देने में सहयोग करें। गृहमंत्री साहू ने सुरक्षाबलों, भूतपूर्व सैनिकों एवं एनसीसी कैडेट्स से इस कार्य में सहयोग की अपील की।

छुटि्टयों से लौटने वाले जवानों को रखेंगे क्वारेंटाइन सेंटर में

डीजीपी डीएम अवस्थी, स्पेशल डीजी नक्सल ऑपरेशन अशोक जुनेजा, सीआरपीएफ के आईजी प्रकाश डी., आईटीबीपी के आईजी संजीव राणा, सीआईएसएफ, बीएसएफ, राज्य सैनिक कल्याण बोर्ड, एसएसडी के प्रमुख ने जवानों के टीकाकरण, क्वारेंटाइन सेंटर, उपचार की व्यवस्था की जानकारी दी कि कोरोना के कारण बटालियन के मेडिकल कर्मियों के अवकाश पर रोक लगा दी गई है। जिन राज्यों में कोरोना संक्रमण अत्यधिक है, वहां के रहने वाले जवानों के अवकाश को भी प्रतिबंधित किया गया है। अवकाश से लौटने वाले जवानों को क्वारेंटाइन सेंटर में रखा जा रहा। उनका कोरोना टेस्ट भी कराया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...