• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Modi Encircle By Inflation On The First Day Of The Year: Former Maharashtra Congress President Manik Rao Said, Modi Government Will Be Hit By Inflation In The New Year

साल के पहले दिन मोदी को महंगाई पर घेरा:महाराष्ट्र कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष माणिक राव ने कहा-मोदी सरकार नए साल में महंगाई से मारेगी

रायपुर7 महीने पहले

साल 2022 के पहले ही दिन कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा को महंगाई के मुद्दे पर घेरा है। महाराष्ट्र कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष माणिक राव ठाकरे ने रायपुर में कहा, हम हर नए वर्ष पर एक दूसरे की समृद्धि और सुख की कामना करते हुए बधाई देते हैं। लेकिन हमारी केंद्र सरकार कुछ और ही कामना कर रही है। बीते सात सालों की तरह इस बार भी देश की जनता को महंगाई की मार का उपहार ही जनता को दिया जा रहा है।

कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय राजीव भवन में पत्रकारों से चर्चा करते हुए माणिक राव ठाकरे ने कहा, देश के लोगों पर महंगाई का बोझ बढ़ता जा रहा है। नवंबर 2021 में होल सेल प्राइज इंडैक्स 14.23 प्रतिशत रहा, जो पिछले 10 सालों में सबसे ज्यादा था। नए साल में इसका प्रभाव बहुत जल्दी महसूस होने लगेगा। ऐसे में नए साल में प्रवेश करते हुए हमें हर सामान, चाहे वो दैनिक उपयोग का हो या सुख-समृद्धि का, रोजमर्रा की उपभोक्ता वस्तुएं हों या स्टील, सीमेंट व बिजली सब पर हमें और ज्यादा पैसा खर्च करने की तैयारी कर लेनी चाहिए। रोजमर्रा के कपड़ों से लेकर जूते-चप्पल या एटीएम से पैसे निकालने तक या फिर टोल टैक्स, हर चीज महंगी होने वाली है।

कांग्रेस के विरोध और पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव को देखते हुए कपड़ों पर GST वृद्धि के प्रस्ताव को 28 फरवरी तक टाला गया है। चुनाव की वजह से संभव है कि उसको एक महीने के लिए और आगे टाल दिया जाए। लेकिन सरकार ने इस प्रस्ताव को रद्द नहीं किया है। इसका मतलब है कि चुनाव के बाद कपड़े भी महंगे होंगे। प्रेस वार्ता में छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष मोहन मरकाम, महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला, संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला, आरपी सिंह आदि भी मौजूद रहे।

2022 में कपड़े होंगे ज्यादा महंगे

माणिक राव ठाकरे ने कहा कि फिनिस्ड गुड्स जैसे कपड़े, सिले वस्त्र आदि ज्यादा महंगे हो जाएंगे। क्योंकि केंद्र की भाजपा सरकार इन सामानों पर जीएसटी 5 प्रतिशत से बढ़ाकर 12 प्रतिशत कर रही है। एक हजार रुपए तक की कीमत वाले कपड़ों पर जीएसटी दर को 5% से बढ़ाकर 12% कर दिया गया है। साथ ही कपड़े, बुने हुए वस्त्रों, रूमाल, तौलियों आदि तथा आम लोगों द्वारा सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले होजियरी आइटम्स जैसे मोजे, टॉवेल, सूती साड़ी, इनर वियर, शर्ट-पैंट तथा सिंथेटिक यार्न, कंपल, टैंट एवं एसेससरीज जैसे टेबल पर बिछाने वाले कपड़ों आदि पर भी जीएसटी बढ़ाकर 12% कर दी गयी है। फिलहाल इसे स्थगित किया गया है, लेकिन सरकार इसे लागू कर सकती है।

ऐसा हुआ तो 15 लाख नौकरियां जाएंगी

1- कांग्रेस नेता का दावा है, जीएसटी बढ़ाए जाने से कपड़ा उद्योग की 15 लाख से ज्यादा नौकरियां समाप्त हो जाएंगी।

2- देश में वस्त्रों का 80% उत्पादन असंगठित क्षेत्र द्वारा किया जाता है। वस्त्रों पर जीएसटी बढ़ाकर 12% किए जाने से पॉवरलूम एवं हथकरघा बुनकरों के व्यवसाय व रोजगार के अवसर छिन जाएंगे।

3- कच्चे माल जैसे सूत, पैकिंग सामग्री एवं माल ढुलाई के दामों में अप्रत्याशित वृद्धि से जल्द ही बाजार में कपड़ों के मूल्यों में 15 से 20% की वृद्धि हो जाएगी। गारमेंट इंडस्ट्री के मुताबिक 85% कपड़ों की बिक्री एक हजार रुपए से कम कीमत की होती है।

जूते-चप्पल, उपभोक्ता वस्तुओं की कीमत बढ़ेगी

प्रति जोड़ा एक हजार तक की कीमत वाले जूते-चप्पल पर जीएसटी दर को 5% से बढ़ाकर 12% कर दिया गया है। बिस्कुट, नमकीन, साबुन-तेल जैसी उपभोक्ता वस्तुओं की कीमत 6% से 10% बढ़ेगी।

अपना ही पैसा निकालने पर देना होगा टैक्स

भारतीय रिजर्व बैंक ने निःशुल्क ट्रांजैक्शन की निर्धारित सीमा पूरी होने के बाद एटीएम से कैश निकालने पर शुल्क बढ़ाने की अनुमति दे दी है। इसके मुताबिक, निःशुल्क ट्रांजैक्शन की सीमा पूरी होने के बाद बैंक अपने ग्राहकों से 21 रुपए प्रति ट्रांजैक्शन शुल्क की वसूली करेंगे।

ऑनलाइन बुकिंग भी भारी पड़ेगी

ओला और ऊबर जैसे ऐप एग्रीगेटर्स द्वारा ऑटो रिक्शा की राईड्स बुक करने पर ज्यादा पैसे चुकाने होंगे। 1 जनवरी से सरकार मौजूदा छूट को समाप्त कर ऑनलाइन ऑटो राईड बुक करने पर 5% का जीएसटी शुल्क वसूलना शुरू कर देगी।

कार या ऑटोमोबाइल खरीदना हो जाएगा महंगा

इस साल सभी कार एवं ऑटो कंपनियों की कारें खरीदना और ज्यादा महंगा हो जाएगा। लागत बढ़ने के कारण ऑटो कंपनियां कीमतों में बढ़ोतरी करेंगी। टाटा मोटर्स ने 1 जनवरी 2022 से अपने कमर्शियल वाहनों के मूल्य में 2.5% की वृद्धि करने की घोषणा कर दी है।

सीमेंट की कीमतें बढ़ेंगी, मकान बनाना महंगा होगा

कांग्रेस नेता का कहना है कि 2021 में भी सीमेंट की कीमतें 15 से 20% तक बढ़ी। हालत यह है कि एक साल पहले तक 330 से 340 रुपए में बिकने वाला सीमेंट का 50 किलो का बैग अब 400 रुपए पार करने की तैयारी में है।

स्टील की कीमत भी नई ऊंचाई पर पहुंचेगी

ठाकरे ने कहा कि साल 2020 से दिसंबर 2021 के बीच स्टील की कीमतों में 215% वृद्धि की। अकेले नवंबर 2021 में स्टील कंपनियों ने स्टील की कीमत 3000-3500 रुपए प्रति टन बढ़ाया। मोदी सरकार की मूक सहमति है, कीमतें बढ़ रही है और लोग पिस रहे हैं। 2022 में फिर कीमतें बढ़ाने की तैयारी है।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक ने शुल्क बढ़ाया

ठाकरे ने बताया इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के खाताधारकों को 1 जनवरी से एक विशेष सीमा के ऊपर कैश निकालने या जमा करने के लिए शुल्क देना पड़ेगा। बेसिक बचत खाते से हर माह 4 बार ही पैसा निकालना निःशुल्क होगा। इसके बाद, हर बार पैसा निकालने पर 0-50% शुल्क अदा करना होगा।

खबरें और भी हैं...