दिल्ली से लौटे छग कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष:राहुल गांधी ने आधे घंटे की मीटिंग में जानी इंटरनल रिपोर्ट, 2023 के लिए बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत करने के निर्देश

रायपुर3 महीने पहले
मोहन मरकाम ने छत्तीसगढ़ के बस्तर आर्ट के तहत तैयारी स्मृति चिन्ह भी सौंपा।

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस भी अब भाजपा की ही तरह चुनावी मोड में एक्टिव होती दिख रही है। दिल्ली गए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम मंगलवार शाम रायपुर लौटे। लेकिन, दोपहर के वक्त जो हुआ वो अब प्रदेश की कांग्रेस पार्टी में सियासी तौर पर अहम है। राहुल गांधी ने करीब आधे घंटे मोहन मरकाम से मुलाकात की। इस दौरान मरकाम ने अपने दो साल के कार्यकाल पूरा करने के बारे में बताया। मरकाम का रिपोर्ट कार्ड देखकर राहुल संतुष्ट नजर आए। दैनिक भास्कर से मोहन मरकाम ने बताया कि ये मुलाकात काफी अच्छी रही। छत्तीसगढ़ की जनता के लिए कांग्रेस पार्टी और प्रदेश सरकार द्वारा किए जा रहे कामों को उन्होंने सराहा।

आंतरिक स्थिति के बारे में भी राहुल ने ली रिपोर्ट
मोहन मरकाम और राहुल गांधी दोनों के बीच कुछ ही मिनट की बातचीत 2023 के चुनावों के लिए अहम मानी जा रही है। पार्टी की आंतरिक स्थिति के बारे में भी राहुल ने मोहन मरकाम से पूरी रिपोर्ट ली है। इसके बाद मोहन मरकाम ने राहुल गांधी को बताया कि हम बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत कर रहे हैं। सभी नेताओं को ट्रेनिंग सेशंस में शामिल किया गया है। जिला स्तर पर भी हर ट्रेनिंग करने जा रहे हैं। इससे जनता के बीच पार्टी मजबूती से उनसे जुड़े मुद्दों को लेकर पहुंचेगी। इस मुलाकात में अगले चुनाव में फिर से एक बार कांग्रेस सरकार छत्तीसगढ़ में बनाने का टास्क लेकर अब मरकाम रायपुर लौट चुके हैं।

पूर्व CM ने तय किए पार्टी के मुद्दे:आदिवासियों के धर्मांतरण, बेरोजगारों की तकलीफ के खिलाफ सड़क पर उतरकर सरकार का विरोध करेंगे युवा भाजपाई

अब जासूसी मामले में राजभवन जाएगी कांग्रेस
21 जुलाई को मोहन मरकाम जासूसी मामले में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। 22 जुलाई को राजभवन के लिए कांग्रेस एक मार्च भी निकालेगी। प्रदेश में शुरू हुए जासूसी विवाद को लेकर ये मार्च आयाेजित होगा। कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने बताया कि ताजा खुलासे से पता चला है कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी व उनके कार्यालयीन कर्मचारियों का भी सेलफोन को भी हैक कर लिया गया। अब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में न्यायिक जांच व गृहमंत्री अमित शाह को बर्खास्त किये जाने की मांग को लेकर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी द्वारा देशभर में विरोध प्रदर्शन करने का फैसला लिया है। इसी सिलसिले में प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा पेगासस स्पाइवेयर मुद्दे को लेकर 22 जुलाई को दोपहर 1 बजे विरोध स्वरूप राजीव भवन से राजभवन मार्च किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...