पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेटे के प्रेम की सजा मां को:दो भाइयों ने मिलकर मां-बेटे को इतना पीटा कि बुजुर्ग महिला की हो गई मौत, धमकी देकर लाश दफन भी करा दी, कब्र खोदकर निकाली गई लाश

रायपुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में छेदन मरावी - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में छेदन मरावी

रायपुर के खरोरा इलाके में एक मर्डर के 48 घंटे के बाद पुलिस ने कातिलों को पकड़ लिया। ये दोनों सगे भाई हैं। इन्होंने 60 साल की बुजुर्ग महिला को पीट-पीटकर मार दिया था। क्योंकि इस महिला का बेटा आरोपियों के घर की लड़की से बातें किया करता था। इसी बात को लेकर हुए विवाद में भाइयों ने पहले तो पड़ोसी युवक को पीटा। जब बीच-बचाव करने उसकी बूढ़ी मां आई तो उसे भी आरोपियों ने लात-घूसों से मारा। इतना मारा कि वहीं बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। इसके बाद दोनों ने महिला के घर वालों को धमकाया और शव को दफना कर अंतिम संस्कार करवा दिया। मगर पुलिस को कुछ लोगों ने खबर कर दी अब आरोपी छेदन मरावी और इसका भाई गोविंद मरावी गिरफ्तार किए जा चुके है।

जब लाश से मिला हत्या का सबूत
घटना 2 जून की है। पुलिस को मुखबीर ने खबर दी कि 60 साल की जंती बाई मरावी की संदिग्ध मौत हुई और घरवालों ने लाश को दफना दिया। शुक्रवार को पुलिस इस सिलसिले में छानबीन करने खरोरा के मांठ गांव के आदिवासी मुहल्ला पहुंची। यहां जंती के घर वालों का गोल-मोल जवाब शक पैदा कर रहा था। उसका बेटा भी सवालों का ठीक जवाब नहीं दे रहा था, जबकि उसके शरीर पर भी चोट के निशान थे। इससे शक गहरा गया। पुलिस की टीम ने मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शव को कब्र से बाहर निकलवाया। लाश पर चोट के निशान थे। यही आरोपियों की गिरफ्तारी का कारण और हत्या का सबूत बना। शव का पोस्ट्मॉर्टम कराया गया जिसमें मृत्यु का कारण अंदरूनी चोट होना पता चला। तब घर वालों ने 2 जून की रात को हुई मारपीट का खुलासा किया, गांव में ही मौजूद छेदन मरावी व गोविंद मरावी को गिरफ़्तार किया गया।

पिटाई बेटे की कर रहे थे बीच में मां आ गई
पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि ये आरोपी मृतिका के बेटे के साथ मारपीट कर रहे थे। उसे जान से मारने की धमकी भी दी थी। पूछताछ के दौरान छेदन और गोविंद ने कहा कि जंती का बेटा विजय हमारे घर की लड़की से फोन पर बातें किया करता था। छुपकर मिला करता था, हमें ये पसंद नहीं था। पहले भी इसी बात पर विवाद हो चुका था। हम इसी बात को लेकर जंती के घर गए थे। तब वहां उसके बेटे से मारपीट हो गई। बीच में आने की वजह से जंती पर हमने हमला किया। पुलिस ने अब इन्हें जेल भेज दिया है।

खबरें और भी हैं...