चिकित्सा शिक्षा विभाग:नीट यूजी की ऑनलाइन काउंसिलिंग जल्द शुरू होने की संभावना, राजधानी में तीन कॉलेज एक सरकारी दो प्राइवेट

रायपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में यूजी नीट का रिजल्ट आ चुका है। पहली बार चिकित्सा शिक्षा विभाग चिप्स के जरिए यूजी कोर्सेस के लिए ऑनलाइन काउंसलिंग करवाने जा रहा है। ऑऩलाइन काउंसलिंग के लिए हाल ही में चिकित्सा शिक्षा विभाग ने चिप्स से एमओयू किया है। प्रदेश में नीट यूजी में एमबीबीएस की 1300 से अधिक सीटें हैं। चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इस हफ्ते काउंसलिंग की प्रक्रिया प्रदेश में शुरू होने की संभावना है।

पहले नीट के जरिए प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा विभाग को रिजल्ट की हार्ड कॉपी मिलेगी, उसके बाद छात्रों के प्रवेश का पंजीयन शुरू होगा। छात्र प्रदेश में अपनी पसंद के कॉलेजों का चयन कर सकेंगे। यूजी कक्षाओं में करीब 82 फीसदी सीटें यानी 1066 से अधिक सीटें प्रदेश के छात्रों के लिए आरक्षित हैं। जैसे जैसे काउंसलिंग के चरण बढ़ते जाएंगे, उसके मुताबिक ऑल इंडिया से वापस मिलने वाली सीटें भी प्रदेश के छात्रों को आगे की काउंसलिंग में मिलने की संभावनाएं जताई जा रही है। प्रदेश के चिकित्सा महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए पिछले साल 45 सौ से अधिक छात्रों ने पंजीयन करवाया था।जिसमें से एक हजार से अधिक छात्रों को प्रदेश और अन्य राज्यों के मेडिकल कॉलेजों में दाखिले मिले थे। चिकित्सा शिक्षा विभाग के अफसरों के मुताबिक रिजल्ट मिलने के बाद प्रदेश के छात्रों की मेरिट लिस्ट अलग से तैयार होगी, ये लिस्ट छात्रों के द्वारा किए गए पंजीयन के आधार पर बनती है।

राजधानी में अब तीन कॉलेज एक सरकारी दो प्राइवेट
रायपुर में इस साल निजी कॉलेज बालाजी को भी मान्यता मिली है। रायपुर शहर में मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के इच्छुक छात्रों को अब करीब 480 सीटें मिलेंगी। नेहरु मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस के लिए 180 सीटें हैं। जबकि रिम्स और बालाजी में करीब 150-150 सीटें हैं। हाल ही में नेशनल मेडिकल कमीशन यानी एनएमसी ने बालाजी और कांकेर कॉलेज को मान्यता दी है।

खबरें और भी हैं...