पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सीमाओं पर बढ़ी सख्ती:भारत में नया एपी स्ट्रेन मिलने के बाद छत्तीसगढ़ में बढ़ाई चौकसी; प्रदेश में कोरोना के 15785 नए केस मिले

रायपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छत्तीसगढ़ की सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है। अब आंध्र की ओर से आने वालों की कड़ाई से जांच की जा रही है। लक्षण दिखने पर लोगों की कोरोना जांच भी की जा रही है। - Dainik Bhaskar
छत्तीसगढ़ की सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है। अब आंध्र की ओर से आने वालों की कड़ाई से जांच की जा रही है। लक्षण दिखने पर लोगों की कोरोना जांच भी की जा रही है।

आंध्र प्रदेश (एपी) में काेराेना का एक नया स्ट्रेन (स्वरूप) मिला है। यह पिछले स्ट्रेन की तुलना में 10-15 गुना तक संक्रामक बताया जा रहा है। हैदराबाद स्थित सेंटर फाॅर सेलुलर एंड मालेकुलर बायाेलाॅजी (सीसीएमबी) द्वारा सबसे पहले कुर्नूल में इसे खाेजा गया। इस बीच छत्तीसगढ़ सरकार की नई गाइडलाइन में स्पष्ट कहा गया है कि आंध्रप्रदेश से कोरोना के नए स्ट्रेन के आने का पता चला है, जिसे काफी खतरनाक बताया जा रहा है। इसलिए बस्तर संभाग के जिलों की सीमाओं पर चौकसी के साथ ही जांच में तेजी लाने तथा सख्ती बरतने के निर्देश जारी किए गए हैं।

एपी वैरिएंट या एन-440के नाम के इस वैरिएंट के बारे में कहा जा रहा है कि यह भारतीय वैरिएंट बी-1.617 और बी-1.618 से भी ज्यादा खतरनाक हाे सकता है। वैज्ञानिकाें का मानना है कि यही वैरिएंट विशाखापट्टनम और राज्य के अन्य भागाें में तबाही मचा रहा है। आंध्र के अलावा तेलंगाना, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के कुछ भागाें में यह मिला है। सीसीएमबी के वैज्ञानिकाें के अनुसार एन-440 के दुनिया भर में घूम रहे ए2ए प्राेटाेटाइप स्ट्रेन की तुलना में 10 गुना अधिक संक्रामक है। विभिन्न स्थानाें से इकट्ठा किए गए नमूनों में 50% में एन-440के वायरस ही था। वहीं, विशाखापट्टनम जिला कलेक्टर वी विनय चंद ने कहा है कि अभी निश्चित नहीं है कि राज्य में काैन सा वायरस है।

बचने का एक ही तरीका काेरोना संबंधी ऐहतियाती नियम-कायदों का पालन करें
आंध्र मेडिकल काॅलेज के प्रिंसिपल पीवी सुधाकर का कहना है कि नए वैरिएंट का एन्क्यूबेशन पीरियड (संक्रमित हाेने से लक्षण उभरने की अवधि) कम है। बीमारी बहुत तेजी से बढ़ती है। पहले वाले मामलाें में संक्रमित मरीज के गंभीर हालत में पहुंचने में कम से कम एक हफ्ते का समय लगता था। लेकिन अब तीन से चार दिन। इस वजह से आईसीयू बेड की मांग बहुत बढ़ गई है। विशेषज्ञाें का यह भी कहना है कि इसके अलावा इस बार बहुत कम संपर्क में ही यह वायरस संक्रमित कर रहा है। इसके कारण एक संक्रमित कम समय में चार से पांच लाेगाें काे संक्रमित कर रहा है। सबसे अहम बात कि इससे काेई नहीं बच रहा है।

इधर, बढ़ रहा संक्रमण रायपुर 1008 समेत प्रदेश में 15785 संक्रमित, 210 माैतें
प्रदेश में मंगलवार को 15785 कोरोना के नए संक्रमित मिले हैं, जिनमें 1008 रायपुर के हैं। रायपुर में 39 समेत 210 मरीजों की मौत भी हुई है। मंगलवार को मरीजों की संख्या 7.87 लाख पहुंच चुकी है। प्रदेश में हर सप्ताह एक लाख से ज्यादा नए संक्रमित बढ़ रहे हैं। इस स्थिति में बुधवार को प्रदेश में मरीजों की संख्या 8 लाख पहुंच सकती है। राजधानी में भी 1.45 लाख से ज्यादा काेरोना के मरीज हो गए हैं। राजधानी में 25 अप्रैल से 2000 से कम मरीज मिल रहे हैं। हालांकि प्रदेश में 23 अप्रैल को 17397 मरीज मिल चुके हैं। अभी भी 14 से 15 हजार के बीच या इससे ज्यादा मरीज रोजाना मिल रहे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

और पढ़ें