टीईटी अगले माह:नए आवेदन अस्वीकृत पूर्व में फार्म भरने वाले ही दे सकेंगे परीक्षा

रायपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (टीईटी) के लिए अब ज्यादा इंतजार नहीं करना होगा। अगले महीने यह परीक्षा आयोजित की जा सकती है। इस महीने प्रवेश परीक्षाओं का दौर खत्म हो जाएगा। इसके बाद टीईटी होगी। व्यापमं से इसकी तैयारी की जा रही है। टीईटी मार्च 2020 में होने वाली थी। लेकिन कोरोना संक्रमण की वजह से परीक्षा आयोजित नहीं हो पाई। टीईटी के लिए नए आवेदन नहीं लिए जाएंगे। पूर्व में जिन्होंने फार्म भरा है, वही इसमें शामिल हो सकेंगे।

अफसरों का कहना है कि टीईटी के लिए आवेदन की प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है। इसके लिए एक लाख से ज्यादा आवेदन जमा हो चुके हैं। ऐन परीक्षा के कुछ दिन पहले कोरोना का संक्रमण फैला और राज्य में सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गईं। इसमें टीईटी भी शामिल थी। कोरोना संक्रमण के कारण स्कूल व कॉलेज जुलाई तक बंद रहे। इस वजह से परीक्षा का आयोजन मुश्किल था। शिक्षा सत्र 2020 ऐसे ही बीत गया। 2021 फरवरी में स्कूल खुलने शुरू हुए लेकिन कुछ कक्षाओं को ही शर्त के साथ अनुमति दी गई। पहले चरण में केवल हाई व हायर सेकेंडरी स्कूल खोले गए। सभी कक्षाएं नहीं खुलने के कारण परीक्षा के लिए सेंटर बनाना संभव नहीं था। इस वजह से उस दौरान परीक्षा का आयोजन नहीं किया जा सका।

इस साल अप्रैल में कोरोना का संक्रमण फिर बढ़ गया। स्कूल व कॉलेज दोबारा बंद कर दिए गए। अगस्त में चरणबद्ध तरीके से स्कूल कॉलेज खोलना शुरू किया गया। इसके बाद फिर प्रवेश परीक्षाओं के आयोजन की तैयारी की गई। बीएड, डीएलएड, पीईटी, पीपीएचटी, पॉलिटेक्निक, फार्मेसी, पीएटी समेत कुछ अन्य परीक्षाओं का आयोजन किया जा चुका है। बीएससी नर्सिंग और बीए.बीएड और बीएससी.बीएड की परीक्षा 10 अक्टूबर को आयोजित की जाएगी। इसके बाद एमएससी नर्सिंग व पोस्ट बेसिक नर्सिंग की परीक्षा होगी। इनके बाद प्रवेश परीक्षाओं का दौर खत्म हो जाएगा, फिर रुकी हुई परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी। इसमें टीईटी पहले आयोजित की जा सकती है।

व्यापमं से पीएटी के नतीजे जारी
प्री एग्रीकल्चर टेस्ट यानी पीएटी और प्री वेटनरी पॉलिटेक्निक टेस्ट (पीवीपीटी) के नतीजे जारी किए गए हैं। यह परीक्षा पिछले महीने हुई थी। इसमें करीब 25 हजार परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कृषि व उद्यानिकी पाठ्यक्रम में पीएटी के माध्यम प्रवेश होता है। जबकि कामधेनु विवि के वेटनरी पाठ्यक्रम में पीवीपीटी के माध्यम प्रवेश होता है। दोनों परीक्षाएं साथ-साथ हुई थीं। व्यापमं के अफसरों का कहना है कि कुछ महीनों में जो परीक्षाएं हुईं उनमें से अधिकांश के रिजल्ट आ चुके हैं। बीएससी नर्सिंग की परीक्षा 10 को होगी। इसके रिजल्ट भी इस माह के आखिरी तक या नवंबर के पहले सप्ताह तक जारी कर दिए जाएंगे।

क लाख से ज्यादा अभ्यर्थी
कक्षा पहली से पांचवीं और छठवीं से आठवीं स्कूलों में टीचरशिप की पात्रता के लिए टीईटी आयोजित की जाती है। इसमें क्वालिफाई करने वालों को अध्यापन की पात्रता मिलती है। इस बार टीईटी के लिए एक लाख से अधिक अभ्यर्थी हैं। पिछले कुछ वर्षों से टीईटी का आयोजन लगातार किया जा रहा है। 2019 में भी यह परीक्षा आयोजित की गई थी। 2020 में भी तैयारी थी। अफसरों के अनुसार इस परीक्षा को क्वालिफाई करने वाले परीक्षार्थी को एक सर्टिफिकेट दिया जाता है। इसकी वैधता अब आजीवन है। पहले यह सर्टिफिकेट सात वर्ष के लिए मान्य था।

150 नंबर के सवाल पूछे जाएंगे
शिक्षक पात्रता परीक्षा में 150 नंबर के सवाल पूछे जाएंगे। यह परीक्षा क्वालिफाई करने के लिए सामान्य वर्ग के परीक्षार्थियों को न्यूनतम 60 प्रतिशत नंबर प्राप्त करना होगा। बहुवैकल्पिक प्रश्न पूछे जाएंगे। जवाब लिखने के लिए ढ़ाई घंटे का समय दिया जाएगा। इसी तरह टीईटी में निगेटिव मार्किंग का प्रावधान नहीं है। परीक्षा के आयोजन की तारीख व इससे संबंधित दिशा-निर्देश जल्द जारी किए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...