• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • New District Will Be Announced Tomorrow: After The Victory, Chief Minister Bhupesh Baghel Said, The People Of Khairagarh Should Be Rest Assured, The Promise Will Be Fulfilled In Due Time

खैरागढ़-छुईखदान-गंडई होगा 33वां जिला:कांग्रेस की जीत का प्रमाणपत्र देखते ही मुख्यमंत्री ने की घोषणा, तीन घंटे में पूरा हुआ चुनावी वादा

रायपुर7 महीने पहले

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार देर शाम खैरागढ़-छुईखदान-गंडई को नया जिला बनाने की आधिकारिक घोषणा कर दी। यह घोषणा मुख्यमंत्री निवास में हुई, जहां कांग्रेस की नव निर्वाचित विधायक यशोदा वर्मा CM से मिलने पहुंची थी। कांग्रेस उम्मीदवार की जीत का प्रमाणपत्र देखने के बाद मुख्यमंत्री ने जिला बनाने की घोषणा की। यह प्रदेश का 33वां जिला होगा।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने साल्हेवारा को पूर्ण तहसील और जालबांधा को उप तहसील बनाने का भी किया ऐलान किया। मुख्यमंत्री जब यह घोषणा कर रहे थे तब खैरागढ़ क्षेत्र के तमाम लोग मुख्यमंत्री निवास में मौजूद थे। खैरागढ़ उप चुनाव में कांग्रेस ने बकायदा घोषणापत्र जारी कर यह वादा किया था। कांग्रेस का वादा था कि विधायक चुने जाने के 24 घंटे के भीतर जिला बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रमाणपत्र मिलने के तीन घंटे के भीतर यह चुनावी वादा पूरा कर दिया। कांग्रेस सरकार अपने तीन साल के कार्यकाल में पांच नए जिले बना चुकी है। इसमें एक गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही पूरी तरह अस्तित्व में आ चुका है, शेष पांच गठित होने की प्रक्रिया में हैं। इससे पहले प्रेस से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने साफ शब्दों में कहा, खैरागढ़ की जनता निश्चिंत रहे। तय समय पर वादा पूरा होगा।

नवनिर्वाचित विधायक शारदा वर्मा देर शाम मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मिलने पहुंची थीं।
नवनिर्वाचित विधायक शारदा वर्मा देर शाम मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मिलने पहुंची थीं।

केवल जिले की घोषणा से नहीं जीते हैं चुनाव

मुख्यमंत्री निवास में प्रेस से चर्चा में CM भूपेश बघेल ने कहा, चुनाव में जिला और तहसील की घोषणा एक मुद्दा हो सकता है, लेकिन यह एकमात्र कारण नहीं है। अगर ऐसा होता तो रमन सिंह ने अपने 15 साल में 9 जिले बनाए। लेकिन मुंगेली के अलावा हर जिले में हार गए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, 2018 के चुनाव में खैरागढ़ में हमें केवल 31 हजार वोट मिले थे। मुख्य मुकाबला देवव्रत सिंह और कोमल जंघेल के बीच ही था। इस चुनाव में हमें 87 हजार वोट मिले हैं। यानी हार के अंतर को भी कम किया और बड़ी बढ़त भी ली। हमें 57 हजार से अधिक वोटों का फायदा हुआ है। इसका मतलब यह है कि लोगों ने सरकार की योजनाओं को हाथो-हाथ लिया है।

सेमिफाइनल में हारी भाजपा, फाइनल भी ऐसा ही होगा

चुनाव में जारी भाजपा के आरोप पत्र को लेकर पूछे गए एक सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, भाजपा के उस कथित आरोप पत्र को तो खैरागढ़ की जनता ने नकार दिया है। भाजपा इस चुनाव को 2023 के आम चुनाव का सेमिफाइनल बता रही थी। नतीजों ने साफ कर दिया है कि भाजपा सेमीफाइनल बुरी तरह हार चुकी है और 2023 का चुनाव परिणाम भी ऐसा ही होने वाला है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने एक दूसरे को चुनावी जीत की मिठाई खिलाई।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने एक दूसरे को चुनावी जीत की मिठाई खिलाई।

खैरागढ़ को जिला बनाने की तैयारी:अफसरों को काम पर लगाया;रविवार शाम तक घोषणा के साथ दावा-आपत्ति मंगाया जाएगा

यह कठिन उप चुनाव था

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, पिछले तीन सालों में छत्तीसगढ़ में चार विधानसभा उप चुनाव हो चुके। मरवाही और खैरागढ़ अपेक्षाकृत कठिन चुनाव थे। खैरागढ़ में संगठन कमजोर रहा। 1995 से अब तक खैरागढ़ विधानसभा की राजनीति देवव्रत सिंह के इर्दगिर्द घूमती रही। इस वजह से निचले स्तर पर संगठन मजबूत नहीं था। इस बार सभी पदाधिकारियों, मंत्रियों, कार्यकर्ताओं ने पूरी ऊर्जा के साथ उस कमजोरी काे पाटकर नई लकीर खींच दिया है।

इस हार से रमन सिंह को सर्वाधिक नुकसान

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, खैरागढ़ की इस हार से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को सर्वाधिक नुकसान होगा। उनका राजनीतिक वजूद भी खतरे में है। उन्होंने वहां कहा कि खैरागढ़ की मातृभूमि है, यहां उनके पारिवारिक संबंध हैं। इसके बाद भी लोगों ने उनकी बातों पर भरोसा नहीं किया।

जनता अब भाजपा को समझने लगी है

इस बार के सभी उप चुनावों में भाजपा की हार से जुड़े एक सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, देश भर में महंगाई बढ़ रही है। पेट्रोल, खाद्य तेल, अनाज, सब्जियां, रेल-बस का किराया। इस पर नियंत्रण की जगह भाजपा साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण की कोशिश में है। जनता अब भाजपा का यह खेल समझने लगी है। जिन अपेक्षाओं के साथ भाजपा को लोग सत्ता में लाए थे, वे पूरे नहीं हुए। आम लोग निराश हैं। इसका असर चुनाव परिणाम में भी दिख रहा है।

कांग्रेस ने उप चुनाव के लिए जारी घोषणापत्र में कहा था कि यदि कांग्रेस उप चुनाव जीतती है तो 24 घंटे के भीतर खैरागढ़-छुईखदान-गंडई को जिला बनाया जाएगा। इसके लिए सरकार ने प्रशासनिक तैयारी भी शुरू कर दी है।

रायगढ़ की घटना पर भी दिखाई सख्ती

रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक के बेटे की पुलिस थाने में मारपीट की घटना पर मुख्यमंत्री ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, यह प्रकाश नायक के बेटे की बात हो अथवा भूपेश बघेल के पिता की। दूसरी भी कई बड़ी घटनाएं हुई हैं, उन सब में भी पुलिस ने तत्परता से अपना काम किया है। इन सब मामलों में न्याय होना चाहिए, लेकिन वह न्यायालय करेगा। ऐसा नहीं है कि हम बुल्डोजर चला दें।

खैरागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस की जीत:यशोदा वर्मा ने BJP उम्मीदवार कोमल जंघेल को 20 हजार वोटों से दी शिकस्त; जमानत नहीं बचा सके JCCJ प्रत्याशी

खैरागढ़ उपचुनाव का Exit Poll:आसानी से जीतेगी कांग्रेस, जिस जकांछ के पास सीट थी उसको जमानत बचाना भी मुश्किल

खैरागढ़ में JCCJ छठवें नंबर पर:जिस पार्टी के पास सीट थी उसके प्रत्याशी को केवल 1218 वोट मिले, NOTA और निर्दलीय उम्मीदवार को इनसे अधिक मिले

चुनाव से ठीक पहले खैरागढ़ का हाल:कांग्रेस के जिला बनाने के वादे का माहौल, भाजपा के पास अभी कोई तोड़ नहीं, JCCJ को लेकर खामोशी

खबरें और भी हैं...