पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छत्तीसगढ़ राज्योत्सव:तस्वीरों में देखिए मोर रायपुर का नया लुक ; बूढ़ातालाब, जय स्तंभ चौक और जवाहर बाजार का बदला रूप, लोकार्पण कल

रायपुरएक महीने पहले
फोटो बूढ़ातालाब की है। इस जगह को शहर की सबसे पसंदीदा घूमने-फिरने की जगह के तौर पर तैयार किया जा रहा है।
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल वर्चुअली शामिल होंगे उद्घाटन कार्यक्रमों में, कुछ जगहों पर जाने की भी संभावना
  • रायपुर शहर की पहचान माने जाने वाले स्पॉट अब नए स्वरूप में किए गए तैयार, स्मार्ट सिटी बनने की ओर कदम

रायपुर शहर में राज्योत्सव के साथ लोगों को कुछ नया मिलने जा रहा है। रायपुर शहर की बरसों पुरानी पहचान के तौर पर मशहूर जगहों को नए अंदाज में तैयार किया गया है। इनमें प्रमुख हैं विवेकानंद सरोवर (बूढ़ातालाब), जवाहर बाजार और जय स्तंभ चौक। यह शहर के वो हिस्से हैं जहां से हर दिन हर शहरी का गुजरना होता है। मगर अब यह जगहें नए अवतार में नजर आएंगीं। 1 नवंबर से इन जगहों को इनके नए स्वरूप में लोगों को सौंप दिया जाएगा। इस रिपोर्ट में जानिए पुराना शहर किस कदर नए स्वरूप में नजर आएगा और लोगों को क्या सुविधाएं मिलेंगी।

तालाब के इस हिस्से से सड़क गुजरा करती थी, मगर अब इसे पब्लिक प्लेस के तौर पर तैयार किया गया है।
तालाब के इस हिस्से से सड़क गुजरा करती थी, मगर अब इसे पब्लिक प्लेस के तौर पर तैयार किया गया है।

बूढ़ातालाब होगा जवान, देश का सबसे बड़ा म्यूजिकल फाउंटेन और भी बहुत कुछ

रायपुर शहर के बीचों बीच स्थित बूढ़ातालाब 1 नवंबर से शहर का सबसे पसंदीदा टूरिज्म स्पॉट बनने जा रहा है। तीन फेस में इसके सौंदर्यीकरण का काम किया जाना है। महापौर एजाज ढेबर ने बताया कि लगभग 18 करोड़ रुपए के इस प्रोजेक्ट में 6 करोड़ के करीब खर्च के बाद पहले फेस का काम पूरा कर लिया गया है। इसमें सप्रे स्कूल की पीछे की सड़क पर पाथ वे बनाया गया है, पेड़ों पर क्रिएटिव पेंटिंग की गई है, पूरे एरिया में लाइटिंग की जा रही है।

पेड़ों को भी सजाया गया है, कहीं इनपर गुरिल्ला है तो हीं मोर। फोटो बूढ़ातालाब की।
पेड़ों को भी सजाया गया है, कहीं इनपर गुरिल्ला है तो हीं मोर। फोटो बूढ़ातालाब की।
दीवारों को थ्री डी पेंटिंग से सजाया जा रहा है। आने वाले दिनों में यह सेल्फी जोन बनने वाली हैं।
दीवारों को थ्री डी पेंटिंग से सजाया जा रहा है। आने वाले दिनों में यह सेल्फी जोन बनने वाली हैं।

तालाब के बीच के गार्डन और दानी गर्ल्स स्कूल के पास के हिस्से को फ्लोटिंग डॉक से जोड़ा गया है। फ्लोटिंग डॉक प्लास्टिक के बॉक्स से बना एक पुल है, जो तालाब के पानी पर तैरता रहेगा, इसपर चलकर लोग मुख्य गार्डन में जा सकेंगे। इसके अलावा यहां वाटर स्पोर्टस के लिए छोटी मोटर बोट उपलब्ध रहेगी। जेट स्की पानी पर रफ्तार के रोमांच का अहसास कराएंगी जैसे कि गोवा बीच पर देखने को मिलता है।

बूढ़ातालाब में बड़ी और छोटी बोट के अलावा, एडवेंचर स्पोर्ट्स के लिहाज से जेेट स्की भी रखीं गईं हैं।
बूढ़ातालाब में बड़ी और छोटी बोट के अलावा, एडवेंचर स्पोर्ट्स के लिहाज से जेेट स्की भी रखीं गईं हैं।

इस जगह पर देश का सबसे बड़ा म्यूजिकल फाउंटेन बनाया जा रहा है। 1200 वर्ग फुट इलाके फाउंटेन सिस्टम लगाया जा रहा है। इसमें पानी की फुहारे म्यूजिक बीट पर रंगीन लाइट्स के साथ लोगों के सामने आएंगी। यहीं लेजर शो किया जाएगा। तालाब को साफ रखने के मकसद से भी फाउंटेन लगाए जा रहे हैं यह पानी को गंदा नहीं होने देंगे। बच्चों के लिए प्ले एरिया भी डेवलप किया जा रहा है। इसके अलावा ओपन जिम भी यहां होगा लोगों की सुरक्षा के लिए 24 घंटे पुलिस की टीम कंट्रोल रूम में मौजूद रहेगी। य यहां आने वालों पर 40 सीसीटीवी कैमरे हर तरफ से नजर रखेंगे ।

बूढ़ातालाब में यह एरिया बच्चों की पसंदीदा जगह साबित होगा।
बूढ़ातालाब में यह एरिया बच्चों की पसंदीदा जगह साबित होगा।

जय स्तंभ चौक बताएगा स्वतंत्रता का संघर्ष

यह नया जयस्तंभ चौक है। आजादी के संघर्ष और कामयाबी की यादगार स्मारक है।
यह नया जयस्तंभ चौक है। आजादी के संघर्ष और कामयाबी की यादगार स्मारक है।

रायपुर शहर का जय स्तंभ चौक शहर की पहचान है। इसे स्मार्ट सिटी लिमिटेड की तरफ से करीब 51 लाख रुपए खर्च के बाद नया स्वरूप दिया जा रहा है। पुराने चौक में बीच में स्तंभ और चारों तरफ ग्रील लगीं थी। इस बार इसका लुक बदल गया है। चौक के सर्कल और चारों तरफ की सड़क को अशोक चक्र की थीम पर सजाया जा रहा है। यहां लगने वाली ग्रिल्स के बीचों-बीच अशोक चक्र लोगों को गर्व का अहसास कराएगा।

माना जाता है कि गुलामी के दौर से ही जय स्तंभ चौक रायपुर का प्रमुख चौराहा रहा है। कुछ इतिहासकार मानते हैं कि यहां 10 दिसंबर 1857 को शहीद वीरनारायण सिंह को फांसी की सजा दी गई थी। अब चौक पर चारों दिशाओं में चार एलईडी स्क्रीन लगाई जा रही हैं। इन स्क्रीन में शहीद वीरनारायण सिंह और प्रदेश के महान स्वतंत्रता सेनानियों का संघर्ष दिखाया जाएगा। महापौर एजाज ढेबर ने बताया कि नई पीढ़ी के युवाओं के लिए इन्हें देखना और जनना बेहद जरुरी है। चौक पर स्थित स्तंभ पर लाइट का फोकस अशोक चक्र पर होगा। दूर से यह बेहद आकर्षक लगेगा।

111 साल पहले इसे राजाओं ने बनवाया था, अब नए लुक में जवाहर बाजार

जवाहर बाजार का यह स्वरूप रायपुर के स्मार्ट शहर बनने की निशानी के तौर पर देखा जा रहा है।
जवाहर बाजार का यह स्वरूप रायपुर के स्मार्ट शहर बनने की निशानी के तौर पर देखा जा रहा है।

मालवीय रोड स्थित जवाहर बाजार का इतिहास लगभग 111 साल पुराना है। 1909 से यहां बाजार लग रहा था। लोग यहां हर रोज फल-सब्जियां खरीदते थे। इतिहास विद् डॉ. रमेंद्रनाथ मिश्र ने बताया, 1940 में सारंगढ़ के राजा जवाहर सिंह ने इस बाजार को बाड़े के रूप में तैयार कराया। बाजार के पीछे बाड़े में राजा ठहरा करते थे। लाल रंग का दिखने वाला गेट अब भी जस का तस है। इसे संरक्षित करते हुए सजाया गया है। पहले इसी गेट से लगकर दुकानें थीं। सभी दुकानों के तोड़कर अब गेट के पीछे कॉम्पलेक्स बनाया गया है।

करीब 70 दुकानदारों का नई दुकानों में व्यवस्थापन किया जाएगा। इस कॉम्पलेक्स की दुकानों और ऑफिस को बेचने या लीज पर देने की तैयारी निगम कर रहा है। तीन मंजिला कॉम्पलेक्स में दूसरे और तीसरे फ्लोर में 8-8 दफ्तर भी बनाए गए हैं। यहां मालवीय रोड, सदर बाजार, गोलबाजार आने वालों को पार्किंग की सुविधा मिलेगी। कमर्शियल कॉम्पलेक्स के साथ यहां लोअर बेसमेंट, अपर बेसमेंट और ग्राउंड फ्लोर पर पार्किंग भी होगी। यहां लगभग 246 कार और 400 टू-व्हीलर गाड़ियां पार्क की जा सकेंगी।

ये प्रदेश का पहला ऐसा गार्डन है जहां विकलांगों के लिए झूले लगे हैं। व्हील चेयर सहित दिव्यांग इसपर बैठ सकेंगे।
ये प्रदेश का पहला ऐसा गार्डन है जहां विकलांगों के लिए झूले लगे हैं। व्हील चेयर सहित दिव्यांग इसपर बैठ सकेंगे।

पहली बार दिव्यांगों के लिए झूले, मोती बाग भी संवरा
मोती बाग को अंग्रेजों ने अपने अधिकारियों के घूमने-फिरने के लिए 1854 में तैयार करवाया था। अब लगभग 3 करोड़ के खर्च से इसे रेनोवेट किया गया है। ये प्रदेश का पहला ऐसा गार्डन है जहां विकलांगों के लिए झूले लगे हैं। व्हील चेयर सहित दिव्यांग इसपर बैठ सकेंगे। यहां चिल्ड्रन प्ले जोन में दस हजार स्क्वेयर फीट में रबर फ्लोरिंग की गई है। इस पर अगर बच्चे गिर भी जाएं तो उन्हें चो नहीं लगेगी। रिनोवेशन के तहत गार्डन में पाथवे, अट्रैक्टिव लाइटिंग और योग जोन डेवलप किया गया है। गार्डन में ओपन जिम भी बनाई गई है, यहां हर उम्र के लोग एक्सरसाइज कर सकेंगे।

यह सौगातें भी मिलेंगी
राज्योत्सव के दिन 1 नवंबर को कलेक्टर ऑफिस के पास मल्टीलेवल पार्किंग के लोकार्पण की भी तैयारी है। मल्टीलेवल पार्किंग छह फ्लोर की होगी। इसमें एक साथ 700 गाड़ियां खड़ी हो सकेंगी। इस मल्टीलेवल पार्किंग को बनाने में करीब 20 करोड़ से अधिक खर्च किया जा रहा है। इसके अलावा राज्य सरकार की योजना के अनुरूप स्मार्ट स्कूल भी शुरू किए जा सकते हैं। बीपी पुजारी स्कूल, शहीद स्मारक स्कूल और आरडी तिवारी स्कूल का भी उद्घाटन हो सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें