बंद बीमा पॉलिसी का पैसा दिलाने का झांसा:रिटायर कर्मचारी से साढ़े 9 लाख की ऑनलाइन ठगी

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुंदरनगर के रिटायर बिजलीकर्मी से साढ़े 9 लाख की ऑनलाइन ठगी हो गई। पुलिस ने बताया कि सुंदरनगर के किशोर बैस (62) बिजली विभाग से रिटायर कर्मचारी है। नौकरी के दौरान परिचित एजेंट के माध्यम से उन्होंने अलग-अलग कई बीमा पॉलिसी ली थी। उनके पास फरवरी में भारतीय नियामक एवं विकास प्राधिकरण (आईआरडीए) के नाम से फोन आया।

फोन करने वाले ने अपना नाम मुकेश जैन बताया। उसने कहा कि उनकी अलग-अलग कंपनी में पॉलिसी है। उनके पास भी पॉलिसी की पूरी जानकारी है, लेकिन उनके एजेंट ने गलत तरीके से पॉलिसी लिया है। इससे उन्हें आगे दिक्कत होगी और पैसा भी नहीं मिलेगा। जो गलती हुई है उसे सुधारना होगा फिर पूरा पैसा मिल जाएगा। बुजुर्ग ठग के झांसे में आ गए। उन्हें 45 हजार जमा करके रजिस्ट्रेशन कराने को कहा गया। उन्होंने रजिस्ट्रेशन करा लिया। ठग ने कहा कि उन्हें 21 लाख रुपए मिलेगा। इसलिए कुछ प्रक्रिया करनी होगी। कुछ पैसे जमा करना होगा, जो वापस मिल जाएगा। उन्होंने ठग के बताए अनुसार 6 बार में खाते में 9.50 लाख जमा कर दिया। इसके बाद ठग का फोन बंद कर दिया। वे लगातार ठग को लगा रहे है। ठग कभी अस्पताल में भर्ती होने तो कभी बाहर होने का झांसा देता रहा। अब तक एक पैसा भी उन्हें नहीं मिला है। पुलिस ने जांच के बाद ठग का केस दर्ज कर लिया है। पुलिस बैंक से खाते की जानकारी मांगी है, जिसमें बुजुर्ग ने पैसा जमा किया है। कॉल डिटेल भी निकाला जा रहा है।

खबरें और भी हैं...