• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Oxygen Supply; Priyanka Gandhi Sought Help From CM Bhupesh For Medanta Hospital In Lucknow, A Tanker Oxygen Left In The Morning From Raipur

UP के अस्पताल को छत्तीसगढ़ से भेजी मदद:लखनऊ के मेदांता अस्पताल के लिए प्रियंका गांधी ने CM भूपेश से मांगी मदद, एक टैंकर ऑक्सीजन रवाना

रायपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत्तीसगढ़ में लौह उद्योगों में ऑक्सीजन का उत्पादन बड़ी मात्रा में होता है। संकट के समय इस ऑक्सीजन के औद्योगिक उपयोग पर रोक लगा दी गई है। अब यह कोरोना के मरीजों को सांस पहुंचाने में मददगार हो रही है। - Dainik Bhaskar
छत्तीसगढ़ में लौह उद्योगों में ऑक्सीजन का उत्पादन बड़ी मात्रा में होता है। संकट के समय इस ऑक्सीजन के औद्योगिक उपयोग पर रोक लगा दी गई है। अब यह कोरोना के मरीजों को सांस पहुंचाने में मददगार हो रही है।

ऑक्सीजन की भारी किल्लत से जूझ रहे उत्तर प्रदेश के लिए छत्तीसगढ़ ने भी मानवीय मदद के तौर पर ऑक्सीजन भेजी है। ऑक्सीजन की यह खेप रायपुर के उरला औद्योगिक क्षेत्र से लखनऊ के मेदांता अस्पताल के लिए भेजी गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसकी जानकारी दी।

बताया जा रहा है कि लखनऊ में ऑक्सीजन की भारी किल्लत को देखते हुए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को फोन कर मदद मांगी थी। उसके बाद छत्तीसगढ़ की मशीनरी सक्रिय हुई। उरला के पंकज ऑक्सीजन से एक टैंकर ऑक्सीजन को सुबह-सुबह लखनऊ के लिए रवाना कर दिया गया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लिखा, "प्रियंका गांधी द्वारा फोन पर सूचना मिलने के उपरांत लखनऊ में कोरोना के मरीजों के उपचार में ऑक्सीजन की भारी कमी को देखते हुए आज लखनऊ के मेदांता अस्पताल की ऑक्सीजन आपूर्ति के लिये एक टैंकर ऑक्सीजन की तत्काल व्यवस्था कर उसे लखनऊ के लिए रवाना कर दिया है।"

टैंकर में 16 टन ऑक्सीजन

अधिकारियों ने बताया, लखनऊ भेजे गए टैंकर में 16 टन ऑक्सीजन है। यह लखनऊ के मेदांता अस्पताल ले जाया जाएगा। छत्तीसगढ़ सरकार का दावा है कि उनके पास ऑक्सीजन का पर्याप्त उत्पादन है। राज्य के मरीजों की जरूरत के बाद बचे ऑक्सीजन को दूसरे राज्यों को भी भेजा जा रहा है।

छत्तीसगढ़ में 388 मीट्रिक टन ऑक्सीजन

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश में ऑक्सीजन का उत्पादन 388.79 मीट्रिक टन है। इसमें 250 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन है। छत्तीसगढ़ के अस्पतालाें को अभी 180 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है।

खबरें और भी हैं...