पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

टीके के डोज का संकट:प. बंगाल से साढ़े 3 लाख टीके आए और तुरंत बंट गए, कल के लिए भी नहीं बची वैक्सीन

रायपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
स्टेट वैक्सीन स्टोर फिर से खाली। - Dainik Bhaskar
स्टेट वैक्सीन स्टोर फिर से खाली।
  • 22 लाख से ज्यादा को मिल चुकी पहली खुराक, दूसरे डोज का भी संकट

चुनावी राज्य पश्चिम बंगाल से 3.50 लाख कोविशील्ड वैक्सीन के डोज सोमवार को तड़के राजधानी पहुंच गए। वैक्सीन का संकट इतना गहरा है कि दोपहर से पहले ही सारे टीके 23 जिलों में बांट दिए गए और स्टोर में एक वायल तक नहीं बचा। नक्सल पीड़ित पांच जिलों नारायणपुर, कोंडागांव, बीजापुर, दंतेवाड़ा और सुकमा के लिए तो टीके बचे ही नहीं।

इसकी आशंका थी, इसलिए वहां से वैक्सीन वैन नहीं बुलवाई गई थीं। जो टीके बांटे गए, वह आज और कल यानी मंगलवार तक खत्म हो जाएंगे। उसके बाद बुधवार के लिए प्रदेश के अधिकांश जिलों में फिर वैक्सीन नहीं बची है। अफसरों को यह भी स्पष्ट नहीं है कि वैक्सीन की अगली खेप कब और कितनी आने वाली है।

दरअसल, प्रदेश में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से अब छोटी-छोटी खेप में ही टीके आ रहे हैं। करीब एक हफ्ते पहले ही टीके की सप्लाई की सूचना ईमेल और फोन से अफसरों को मिल जाती थी। सप्लाई लगातार हो रही थी, इसलिए शासन ने प्रदेश में रोजाना 4 लाख टीके लगाने का टारगेट तय कर दिया। लेकिन यहां अब इतनी सप्लाई भी नहीं मिल रही है कि दिन में दो लाख टीके लगाए जा सके।

अप्रैल में सातो दिन वैक्सीन के होने के बाद भी इस तरह की सप्लाई की खराब स्थिति को लेकर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव भी आपत्ति कर चुके हैं। भास्कर से बातचीत में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केंद्र से हमें जरूरत के टीके मिलने चाहिए ताकि हम अधिक से अधिक संख्या में टीकाकरण कर सके। गौरतलब है, रविवार 4 अप्रैल को छुट्टी के के बावजूद प्रदेश में 2.11 लाख से ज्यादा लोगो को टीके लगाए गए।

यही एक सस्पेंस... टीके कब आएंगे?

प्रदेश में जब से कोरोना केस बढ़ रहे हैं, तब से ही टीकाकरण को लेकर लोगो की जागरूकता भी बढ़ी है। लेकिन पिछले लगभग दो हफ्ते से टीकीं की सप्लाई को लेकर अनिश्चितता बढ़ने लगी है। सोमवार को 3.50 लाख टीको की सप्लाई आने के बाद भास्कर ने जब राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अमरसिंह ठाकुर से सवाल किया कि अगली खेप कब आ रही है? तब उन्होंने कहा कि कुछ भी निश्चित नहीं है। उन्होंने कहा कि टीकों के मामले में राज्य की भूमिका केवल रिसीविंग एंड वाली है। हमारी कोशिश यही है कि प्रदेश में टीकाकरण पर ब्रेक न लगे। लेकिन टीके तभी तक लगते रहेंगे, जब तक वैक्सीन मिलती रहेगी।

टीके की ताजा स्थिति

  • 60 लाख से अधिक को लगने हैं टीके
  • 1.20 करोड़ टीके चाहिए दोनों डोज में
  • 22 लाख टीके तीसरे चौथे दौर में लगे
  • 6-8 हफ्ते में इन्हें दूसरा डोज जरूरी
  • 4 लाख को तुरंत चाहिए दूसरा डोज
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें