पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कार्रवाई:फार्मेसी भवन निर्माण ढाई साल लेट, ठेकेदार बर्खास्त और पहली बार निर्माण मशीनें जब्त

रायपुर । अमनेश दुबेएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आयुर्वेद कालेज में 2017 से बन रहा भवन, पूरा होना था 6 माह में

सरकारी निर्माण में देरी के मामले अक्सर सामने आते रहे हैं, लेकिन आयुर्वेद काॅलेज परिसर में 2017 से बन रहे फार्मेसी भवन का काम अधूरा रहने की वजह से पीडब्लूडी ने राजधानी में पहली बार ठेकेदार पर बड़ी कार्रवाई की है। ठेका कंपनी को बर्खास्त करने के साथ-साथ मौके पर रखी निर्माण मशीनें जब्त कर ली गई हैं। यही नहीं, ठेकेदार के 4.80 लाख रुपए भी राजसात किए गए हैं। वहीं, 35 लाख रुपए के इस निर्माण कार्य का नया टेंडर भी जारी किया जा रहा है। इस कार्रवाई के बाद पीडब्लूडी ने साफ कर दिया है कि किसी भी निर्माण कार्य में देरी के लिए ठेकेदार को उचित कारण बताने होंगे। संतोषजनक वजह नहीं मिली तो ऐसी ही सख्त कार्रवाई होगी। आयुर्वेद कालेज में फार्मेसी भवन बना हुआ है। उसके पहले माले पर कुछ कमरों की जरूरत थी, इसलिए 35 लाख रुपए का टेंडर जारी किया गया था। यह काम बड़ा नहीं था, फिर भी देरी के मामले में पीडब्लूडी महकमे ने यह कार्रवाई मिसाल के तौर पर की है, ताकि बाकी लोग सचेत रहें। इस काम का वर्कआर्डर 20 जून 2017 को जारी किया गया था। ठेकेदार के साथ 6 महीने का अनुबंध भी हुआ था। लेकिन कुछ माह बाद काम रुक गया। उसके बाद पीडब्लूडी ने नोटिस भेजा तो काम फिर शुरू हुआ, लेकिन कुछ दिन में रुका। इसके बाद ठेकेदार के आग्रह पर वहां का सब-इंजीनियर भी बदल दिया गया। कुछ नोटिसों के बाद भी काम अधूरा था, इस बीच पिछले साल ठेकेदार ने एक माह में काम पूरा करने का शपथपत्र दे दिया। इस पर भी अमल नहीं हुआ, तब जाकर ठेकेदार को बर्खास्त करते हुए 4.80 लाख रुपए की बची राशि जब्त कर ली गई। यही नहीं, मौके पर मौजूद ठेकेदार की निर्माण मशीनें भी जब्त की गई हैं, जिन्हें पीडब्लूडी नीलाम करने की तैयारी में है।

एक नजर : ये निर्माण भी वर्षों से अधूरे

  • 20 करोड़ रुपए की लागत से लालपुर के पास केनाल रोड पर बन रहे फ्लाईओवर का काम तीन साल से अधूरा।
  • 27 करोड़ रुपए के खमतराई अंडरब्रिज का काम 10 फीसदी भी नहीं हो सका है। चार साल से प्रोजेक्ट फंसा है।
  • 18 करोड़ की लागत से बनने वाला गोगांव अंडरब्रिज 5 साल से अधूरा है। दूसरे ठेकेदार को भी लगा चुके हैं।

नई एजेंसी को दिया काम, इसी मामले में थाने में हुआ था विवाद
करीब 35 लाख के इस काम के लिए ठेकेदार को टर्मिनेट करने के बाद विभाग ने तीसरा टेंडर भी जारी कर दिया है। यह काम नए ठेकेदार को दिया गया है। उसे ताकीद की गई है कि कमरे बरसात से पहले बनकर तैयार हो जाने चाहिए। यही नहीं, निर्माण स्थल पर जब्त की गई ठेकेदार की मिक्सचर मशीन और 9 क्विंटल से ज्यादा सरिया नीलाम करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। गौरतलब है, कुछ दिन पहले यह मामला थाने भी पहुंच चुका है। पीडब्लूडी के एक एसडीओ ने ठेकेदार के खिलाफ दफ्तर में आकर इंजीनियरों से दुर्व्यवहार करने की शिकायत की थी, जिसकी कोतवाली में जांच चल रही है।

मोहलत दी, फिर सख्ती : ईई
"इस निर्माण के लिए ठेकेदार को कई बार मोहलत दी गई। काम में लगातार देरी हुई, इसलिए इस बार सख्त कार्रवाई की गई है।"
-एनके पाण्डेय, ईई-पीडब्ल्यूडी

कमीशन के लिए बाधाएं : ठेकेदार
"महकमे के कुछ अफसरों ने कमीशन के लिए लगातार दबाव बनाया। नहीं देने पर उन्होंने कई बाधाएं पैदा कीं, इसलिए देरी हुई।"
-रोहित गुप्ता, ठेकेदार

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें