• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Physiotherapy Students' Movement Ends; After Meeting The Health Minister, The Path Of Agreement Came Out, The Assurance Of Fulfilling Most Of The Demands Including Hostel OPD

फिजियोथेरेपी विद्यार्थियों का आंदोलन खत्म:स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात के बाद निकली समझौते की राह, हॉस्टल-ओपीडी सहित अधिकांश मांगों को पूरा करने का भरोसा

रायपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शासकीय फिजियोथेरेपी कॉलेज के विद्यार्थियों की 13 दिसंबर से चल रही हड़ताल खत्म हो गई है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से मुलाकात के बाद सरकार और विद्यार्थियों के बीच समझौते की राह निकली है। विद्यार्थियों की हॉस्टल, ओपीडी सहित अधिकांश मांगों को पूरा करने का भरोसा दिया गया है। अब आंदोलन कर रहे विद्यार्थी सोमवार को अपनी कक्षाओं और ओपीडी में लौट आएंगे।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से हड़ताली विद्यार्थियों के प्रतिनिधिमंडल की चर्चा हुई। इस दौरान चार प्रमुख मुद्दों पर बात हुई। विद्यार्थियों की सबसे बड़ी मांग छात्रावास थी। इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री ने रायपुर कलेक्टर से बात की और देवेंद्र नगर में जमीन देने की सहमति बन गई। स्वास्थ्य मंत्री ने भूमि आवंटन की कागजी करवाई के उपरांत तत्परता से निर्माण कार्य प्रारंभ करने का आश्वासन दिया। ओपीडी में कम जगह से होने वाली परेशानी के समाधान के लिए ओपीडी को शासकीय फिजियोथेरेपी कॉलेज में स्थानांतरित करने का निर्देश दिया गया है।

इंटर्नशिप स्टाइफंड में वृद्धि का प्रस्ताव

स्वास्थ्य मंत्री ने विद्यार्थियों को बताया, बीपीटी स्टाइपेंड की फाइल आवश्यक सुधार के बाद फिर से वित्त विभाग को भेजी गई है। वित्त विभाग से अनुमोदन मिलने के बाद उसे लागू कर दिया जाएगा।

मास्टर्स पाठ्यक्रम की सुविधाएं जुटाने पर जोर

विद्यार्थियों की एक मांग फिजियोथेरेपी में मास्टर्स डिग्री के पाठ्यक्रम का भी था। स्वास्थ्य मंत्री से चर्चा के बाद सहमति बनी कि स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम हेतु आवश्यक संसाधन के अभाव के कारण संचालन करना उचित नहीं है। ऐसे में सारे संसाधनों की पूर्ति के बाद भविष्य में एमपीटी पाठ्यक्रम के संचालन किया जाएगा।

विद्यार्थियों ने अपने खून से लिखा ज्ञापन स्वास्थ्य मंत्री को सौंपा था।
विद्यार्थियों ने अपने खून से लिखा ज्ञापन स्वास्थ्य मंत्री को सौंपा था।

पिछले सप्ताह सड़क पर किया था प्रदर्शन

रायपुर में चल रहे सरकारी फिजियोथैरेपी कॉलेज के विद्यार्थी 13 दिसंबर से हड़ताल पर थे। उन्होंने कक्षाओं और ओपीडी दोनों का बहिष्कार कर दिया था। पिछले सप्ताह शुक्रवार को रैली निकालकर ये विद्यार्थी स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के बंगले जाने के लिए निकले। पुलिस कंट्रोल रूम के पास ही पुलिस ने इन्हें रोक लिया। कुछ देर सड़क पर बैठकर छात्र धरना देने लगे। बाद में फिर कॉलेज लौट गए थे।

फिजियोथैरेपी के स्टूडेंट्स ने खून से लिखा पत्र:छात्राएं बोलीं- स्याही से लिखी बात जिम्मेदार समझते नहीं, हमें हॉस्टल तक नसीब नहीं

खबरें और भी हैं...