खिलाड़ियों को मिलेंगी नई सुविधाएं:छत्तीसगढ़ में कई खेल अकादमियों की शुरुआत, बिलासपुर के राज्य खेल परिसर में रहने की भी सुविधा

रायपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वर्चुअल समारोह में खेल सुविधाओं का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वर्चुअल समारोह में खेल सुविधाओं का लोकार्पण और भूमिपूजन किया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बिलासपुर और रायपुर में लगभग 42 करोड़ 14 लाख रुपए की लागत से नई खेल सुविधाओं का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। इनमें फुटबाल, कबड्डी, तीरंदाजी और एथलेटिक्स की अकादमी के साथ दो खेल छात्रावास, एक तीरंदाजी प्रशिक्षण उपकेन्द्र और एथलेटिक्स के लिए सिंथेटिक ट्रैक एण्ड फील्ड शामिल हैं।

मुख्यमंत्री निवास में आयोजित एक वर्चुअल समारोह में सीएम बघेल ने विभिन्न जिलों के जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, खेल संघों के प्रतिनिधियों और खिलाड़ियों से संवाद किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि खेल सुविधाओं के विस्तार के साथ-साथ हमको इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि खेलों की सारी गतिविधियां केवल शहरों तक सिमट कर न रह जाएं। गांवों के खेल-संस्कार को जीवित रखकर हम अपने शहरों के खेल संस्कार को भी जीवित रख पाएंगे।

पुलिस और वन के बाद अन्य विभागों में भी होगी नियुक्ति

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के बड़े शहरों में प्रारंभ की जा रही खेल अकादमियों, खेल के अच्छे मैदानों, अच्छे प्रशिक्षकों और खेल अधोसंरचनाओं का लाभ ग्रामीण प्रतिभाओं को मिलना चाहिए। छत्तीसगढ़ में खेल सुविधाओं को आगे बढ़ाने के लिए राज्य सरकार पैसों की कोई कमी नहीं होने देगी। सरकार ने छत्तीसगढ़ खेल विकास प्राधिकरण का गठन किया है। इसकी समिति में जल्द ही खिलाड़ियों को भी शामिल किया जाएगा। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा राज्य में खेलों के विकास और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए पुलिस और वन विभाग की तरह अन्य विभागों में भी खिलाड़ियों की नियुक्ति का प्रावधान किया जा रहा है। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, बिलासपुर सांसद अरुण यादव, संसदीय सचिव रश्मि सिंह और पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

इन सुविधाओं का लोकार्पण हुआ

बिलासपुर में स्वर्गीय बीआर यादव राज्य खेल परिसर में 180 सीटर आवासीय एवं 190 सीटर गैर आवासीय अकादमी का शुभारंभ हुआ है। बिलासपुर में ही 9 करोड़ 20 लाख की लागत से 400 मीटर सिंथेटिक एथेलेटिक्स ट्रैक एण्ड फील्ड, 2 करोड़ 82 लाख रुपए की लागत से बालकों के लिए 50 सीटर खेल छात्रावास, 4 करोड़ 75 लाख रुपए की लागत से बालिकाओं के लिए खेल छात्रावास का उद्घाटन हुआ है। 4 करोड़ 47 लाख रुपए की लागत से प्रशासनिक भवन के साथ ही तीरंदाजी प्रशिक्षण उपकेन्द्र शिवतराई और कबड्डी अकादमी का शुभारंभ किया गया है। रायपुर में स्वर्गीय कोदूराम वर्मा स्मृति तीरंदाजी अकादमी, बालिकाओं के लिए फुटबाल अकादमी और एथेलिटक्स अकादमी का भी शुभारंभ हुआ है।

इन सुविधाओं के लिए भूमिपूजन

बिलासपुर में 4 करोड़ 94 लाख रुपए की लागत के कबड्डी इंडोर हॉल, 15 करोड़ 96 लाख रुपए की लागत से हॉकी टर्फ मैदान पर गैलरी, पवेलियन और फ्लड लाइट निर्माण का भूमिपूजन किया गया।

इसी साल शुरू होगी बिलासपुर की अकादमी

बताया गया, बिलासपुर में एथलेटिक्स, तीरंदाजी और हॉकी अकादमी इसी साल शुरू हो रही है। इसके लिए खिलाड़ियों का राज्य स्तरीय चयन 11, 12 और 13 अक्टूबर को होना है। अधिकारियों ने बताया कि खेल परिसर की परिकल्पना 15 साल पहले की गई थी, जो अब जाकर आकार ले पाई है।

खबरें और भी हैं...