कोरोनावायरस / मरकज वाले जिस फ्लाइट- ट्रेन से छत्तीसगढ़ आए उनके बाकी यात्रियों की तलाश में जुटी पुलिस

प्रतीकात्मक तस्वीर। प्रतीकात्मक तस्वीर।
X
प्रतीकात्मक तस्वीर।प्रतीकात्मक तस्वीर।

  • अफसरों के अनुसार रिजर्वेशन फार्म में मोबाइल नंबर रहता है, नंबर मिल जाने से संपर्क करने में दिक्कत नहीं होगी
  •  मोबाइल पर संपर्क होते ही यात्रियों को तुरंत होम क्वारैंटाइन में जाने को कहा जाएगा, उसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजकर उनकी मेडिकल जांच की जाएगी

दैनिक भास्कर

Apr 02, 2020, 08:06 AM IST

रायपुर. दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से निकलकर छत्तीसगढ़ आने वाले किस-किस साधनों से छत्तीसगए आए और उनके साथ किन लोगों ने सफर किया? पुलिस और प्रशासन अब उन यात्रियों की तलाश में जुट गई है। अब तक तब्लीगी जमात के जितने लोग मिल चुके हैं, उनसे यात्रा का ब्योरा ले लिया गया है। उसी आधार पर ट्रेन और फ्लाइट की जानकारी निकाली जा रही है। एसएसपी आरिफ शेख ने बताया कि साइबर सेल की भी मदद ली जा रही है। यात्रियों के मोबाइल नंबर जुटाए जा रहे हैं, ताकि उन्हें तलाश करने में देरी न हो।


रेलवे को ट्रेन का ब्योरा दे दिया गया है। रिजर्वेशन के आधार पर उस बोगी में सफर करने वाले एक-एक यात्री की जानकारी मांगी गई है। अफसरों के अनुसार रिजर्वेशन फार्म में मोबाइल नंबर रहता है। नंबर मिल जाने से संपर्क करने में दिक्कत नहीं होगी। मोबाइल पर संपर्क होते ही यात्रियों को तुरंत होम क्वारैंटाइन में जाने को कहा जाएगा। उसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजकर उनकी मेडिकल जांच की जाएगी। अफसरों ने संकेत दिए हैं कि जरूरत पड़ने पर उन्हें आइसोलेशन में रखकर स्वास्थ्य पर नजर रखी जाएगी।

6 की हो चुकी है मौत

दिल्ली में तब्लीगी जमात के मरकज में शामिल 12 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। उनमें से 6 लोगों की मौत भी हो चुकी। मरकज से निकलकर कई लोग अपने अपने घर जा चुके हैं। कुछ लोग विमान से आए हैं तो कुछ ट्रेनों से। विशेषज्ञों का मानना है कि मरकज में चूंकि सभी सामूहिक रूप से रह रहे थे, वहां पॉजिटिव केस मिला है। ऐसी दशा में वहां रहने वालों में कोरोना के वायरस होने का खतरा है। चूंकि उन लोगों ने जांच के बिना ही सफर कर लिया है। ऐसी दशा में उनके संपर्क में आने वाले भी जांच के दायरे में लिए जाएंगे। केंद्र सरकार के निर्देश पर राजधानी सहित पूरे देश में उनकी तलाश की जा रही है।


मोबाइल नंबर से तलाशे जा रहे संदेही

 पुलिस मरकज से आए लोगों को संदेही मान रही है। एसएसपी ने इसे गंभीरता से लेते हुए अलग से टीम बना दी है। इसमें साइबर के जानकार जवानों को रखा है। स्पेशल टीम अलग-अलग बिंदुओं में जांच कर रही हैं। एक-एक नंबर को ट्रैस किया जा रहा है, जो लोग मिल गए हैं। उनसे पूरी सुरक्षा के साथ पूछताछ की जा रही है। उनसे पूछा जा रहा हैं कि कब गए और कब आए। इस दौरान टैक्सी से लेकर ट्रेन, फ्लाइट किसमें सफर किए है। उन लोगों की जानकारी दें।


102 तक पहुंची पुलिस, बाकी की तलाश
केंद्रीय गृहमंत्रालय ने राज्य सरकार को 159 लोगों के नाम, पते और मोबाइल नंबर के साथ सूची उपलब्ध करवा दी है। इनमें मरकज में शामिल होने वालों के साथ-साथ वे लोग भी हैं जो उस दौरान उस इलाके में मौजूद थे। पुलिस और प्रशासनिक अमला 102 लोगों तक पहुंच चुका है। उन्हें आइसोलेशन में रखा गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना