पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

काउंसिल की बैठक:अंबेडकर अस्पताल में खून जांच, सोनोग्राफी से लेकर सर्जरी फीस तक बढ़ाने की तैयारी

रायपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अभी अस्पताल में जो जांच शुल्क लिया जा रहा है वह 20 साल पहले तय किया गया था। - Dainik Bhaskar
अभी अस्पताल में जो जांच शुल्क लिया जा रहा है वह 20 साल पहले तय किया गया था।

अंबेडकर अस्पताल में ब्लड, एक्सरे, सोनोग्राफी, सीटी स्कैन, एमआरआई जांच शुल्क के अलावा ऑपरेशन का शुल्क बढ़ाने की तैयारी है। यही नहीं पेइंग वार्ड का किराया भी बढ़ाया जाएगा। पं. जवाहरलाल नेहरु मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने सभी विभागों के एचओडी से एक सप्ताह के भीतर शुल्क बढ़ाने का प्रस्ताव मांगा है।

एचओडी से कहा गया है कि किस-किस जांच का कितना शुल्क बढ़या जा सकता है। हालांकि बायो केमेस्ट्री विभाग ने बढ़ाने का प्रस्ताव बनाना तो दूर कॉलेज काउंसिल की बैठक में ही कह दिया कि उनके विभाग में किसी तरह का शुल्क बढ़ाने की जरूरत नहीं है। मंगलवार को नेहरू मेडिकल कॉलेज में कॉलेज काउंसिल की बैठक हुई। उसी में शुल्क बढ़ाने को लेकर चर्चा हुई। अभी अस्पताल में जो जांच शुल्क लिया जा रहा है वह 20 साल पहले तय किया गया था।

उसके बाद से अब तक कोई बदलाव नहीं किया गया। ऑपरेशन के लिए प्रोसीजर शुल्क तो शून्य है। यानी ऑपरेशन के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाता। अब ऑपरेशन के लिए अलग से शुल्क लेने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। कॉलेज प्रबंधन के जिम्मेदार अफसरों की ओर से तर्क दिया गया कि मशीनों की कीमत के साथ सभी तरह की जांच का शुल्क बढ़ गया है।

ऐसे में रेट रिवाइज करने की जरूरत है। इसी वजह से मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने सभी विभागों के एचओडी की बैठक बुलाकर उनसे इस बारे में चर्चा की। सभी विभागों से शुल्क को लेकर प्रस्ताव प्राप्त होने के बाद उसका परीक्षण किया जाएगा। उसके बाद शासन के पास भेजा जाएगा। अफसरों के अनुसार जांच शुल्क बढ़ाने का अंतिम फैसला शासन स्तर पर किया जाएगा।

अंबेडकर में अभी जांच शुल्क व केंद्र सरकार का रेट (रुपए में)

खबरें और भी हैं...