सीएम बोले - खेलों के लिए पैसे की कमी नहीं:प्रदेश में एथलेटिक्स, फुटबाल, कबड्डी और तीरंदाजी अकादमी शुरू करने की तैयारी

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम व स्वास्थ्य मंत्री काफी समय के बाद हल्के-फुल्के अंदाज में मिले। - Dainik Bhaskar
सीएम व स्वास्थ्य मंत्री काफी समय के बाद हल्के-फुल्के अंदाज में मिले।

प्रदेश में खेलों की स्थिति को लेकर दैनिक भास्कर ने पिछले दिनों कई खबरें प्रकाशित की थी। इसके बाद राज्य सरकार ने कई बड़े फैसले किए। प्रदेश में खेलों का स्तर सुधारने और खिलाड़ियों को बेहतर सुविधाएं देने भूपेश सरकार ने शनिवार को दूसरी बड़ी पहल की है। सीएम भूपेश बघेल ने पहले प्रदेश के खेल संगठनों और उद्योग समूहों के साथ बैठक कर खेल अधोसंरचना को मजबूत करने की जिम्मेदारी दी थी।

इसके बाद शनिवार को सीएम ने रायपुर और बिलासपुर जिले में चार खेल अकादमियों को खिलाड़ियों के लिए खोल दिया है। इनमें फुटबाल, कबड्डी, तीरंदाजी और एथलेटिक्स की अकादमी, दो खेल छात्रावास, एक तीरंदाजी प्रशिक्षण उपकेन्द्र और एथलेटिक्स के लिए सिंथेटिक ट्रैक एण्ड फील्ड मैदान को शुरु किया। इस पर करीब 42 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं।

सीएम ने कहा कि खेलों के लिए राज्य सरकार पैसों की कोई कमी नहीं होने देगी। कार्यक्रम में सीएम ने कहा कि खेल सुविधाओं के विस्तार के साथ-साथ हमको इसपर भी फोकस करना होगा कि खेलों की सारी गतिविधियां केवल शहरों तक सिमट कर न रह जाएं। गांवों के खेल-संस्कार को जीवित रखकर हम अपने शहरों के खेल संस्कार को भी जीवित रख पाएंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के बड़े शहरों में प्रारंभ की जा रही खेल-अकादमियों, खेल के अच्छे मैदानों, प्रशिक्षकों और खेल अधोसंरचनाओं का लाभ ग्रामीण प्रतिभाओं को मिलना चाहिए। छत्तीसगढ़ में खेल सुविधाओं को आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ खेल विकास प्राधिकरण का गठन किया गया है। वहीं बिलासपुर में एथलेटिक्स, तीरंदाजी और हॉकी अकादमी के लिए खिलाड़ियों का राज्य स्तरीय चयन 11, 12 और 13 अक्टूबर को होगा।

सीएम ने यह भी घोषणा की कि पुलिस और वन विभाग की तरह अन्य विभागों में भी खिलाड़ियों की नियुक्ति का प्रावधान किया जा रहा है। प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि खेलकूद की बहुप्रतिक्षित मांगें आज पूरी हुई है। संचालक खेल एवं युवा कल्याण श्वेता श्रीवास्तव सिन्हा ने कहा कि राज्य के खिलाड़ी खेलबो-जीतबो, गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की परिकल्पना को साकार करेंगे।

परिणाम आने में समय लगे गा: उमेश पटेल
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ में खेल अधोसंरचना का विकास और खिलाड़ियों को दी जा रही सुविधाओं का सार्थक परिणाम आने वाले समय में मिलेगा। जब प्रदेश के खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में मेडल जीतेंगे, तो सीएम के योगदान को याद किया जाएगा।

भूपेश व सिंहदेव ने एक-दूसरे को खिलाया केक, टीएस बोले-भूपेश भाई मीठे से परहेज करते हैं, पर मुझे मना नहीं कर पाते
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने शनिवार को एक दूसरे को केक खिलाया। दरअसल, पं. दीनदयाल ऑडिटोरियम में विश्व फार्मेसी दिवस के उपलक्ष्य में कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसमें सीएम व हेल्थ मिनिस्टर भी शामिल थे। आयोजकों ने केक काटा और सीएम भूपेश बघेल को केक खिलाने की कोशिश की।

सीएम ने केक खाने से मना कर दिया। बाद में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सीएम से केक खा लेने का आग्रह किया। इस बार मुख्यमंत्री मना नहीं कर पाए। दोनों ने एक दूसरे को केक खिलाया। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि भूपेश भाई केक खाने से परहेज करते हैं। मैंने उनसे कहा तो मना नहीं कर पाए।

कका अभी जिंदा है
जब मुख्यमंत्री बघेल संबोधित करने पहुंचे तो लोग भूपेश कका जिंदाबाद करने लगे। मुख्यमंत्री बोलने से पहले कुछ देर रुके। एक मुस्कान दी और सधे अंदाज में कहा- कका अभी जिंदा है। बाद में मुख्यमंत्री के आधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट से भी इसको साझा किया।

खबरें और भी हैं...