पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आय बढ़ाने की तैयारी:कांप्लेक्स से आमदनी के लिए पीडब्ल्यूडी ने सागौन बंगले से लगे सरकारी दफ्तर खाली करवाए

रायपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पीडब्ल्यूडी राजधानी में खाली पड़ी अपनी जमीन से कमाई करने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए सबसे पहले शहर के कटोरातालाब और सिविल लाइंस के बीच की जमीन का चयन किया गया है, जहां पुराने सभी निर्माण को हटाकर कॉमर्शियल और रेसिडेंशियल कांप्लेक्स बनाने की योजना है। इसके लिए सागौन बंगले से लगे सभी सरकारी दफ्तरों को खाली करवा दिया है। लेकिन महीनों गुजरने के बाद भी इस प्रोजेक्ट पर कोई ठोस निर्णय नहीं हो सका है। यहां से पूरे स्टॉफ व दफ्तर को सिरपुर भवन परिसर की बिल्डिंग में शिफ्ट किया गया है। सूत्रों के मुताबिक जमीन के कॉमर्शियल उपयोग को लेकर मामला फंस गया है। इसको लेकर नए सिरे से सर्वे किया जा रहा है। यह भी बताया गया है कि सरकारी जमीन पर कांप्लेक्स बनाने वाली एजेंसी व उसके स्वरूप को लेकर मंथन चल रहा है, जिसपर मुहर लगनी बाकी है।

जमीन मिलने के बाद सीआरडीसी की जिम्मेदारी : पीडब्ल्यूडी से अलग छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम (सीआरडीसी) इस जमीन पर कामर्शियल-रेसिडेंशियल कांप्लेक्स डेवलप करेगा। लेकिन सीआरडीसी के एमडी विलास भोसकर संदीपन ने भास्कर से बातचीत में बताया कि उन्हें अभी तक जमीन नहीं मिली है। जमीन हैंडओवर होने के बाद ही सीआरडीसी यहां कुछ प्लान तय करेगा।

पांच एकड़ में पायलेट प्रोजेक्ट, आय बढ़ाने की तैयारी
सागौन बंगला वाले परिसर में पीडब्ल्यूडी के दफ्तर और पुराने क्वार्टर वगैरह हैं, जिन्हें तोड़कर साढ़े 5 एकड़ का प्लाट निकाला जाएगा और उसमें निर्माण शुरू होगा। यहां पर प्रोजेक्ट के सफल होने के बाद ही राजधानी व प्रदेश के अन्य शहरों में इसे आगे बढ़ाया जाएगा। दरअसल पीडब्ल्यूडी महकमे की राजधानी सहित प्रदेशभर में सैकड़ों एकड़ जगह खाली पड़ी है या उसमें ऐसा निर्माण है जो अनुपयोगी हो चुका है। इन्हीं भूखंड का व्यावसायिक उपयोग कर विभाग अपनी आय बढ़ाने की तैयारी में है।

खबरें और भी हैं...