डॉक्यूमेंट देने कलेक्टर खुद पहुंचे घर:12 घंटे पहले किया था आवेदन,सौरभ कुमार घर पहुंचकर बोले- ये लिजिए जन्म और जाति प्रमाण पत्र

रायपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्टर ने खुद दिया प्रमाण पत्र। - Dainik Bhaskar
कलेक्टर ने खुद दिया प्रमाण पत्र।

छत्तीसगढ़ में पहली बार लोगों के सरकारी काम कुछ ही घंटों के भीतर हो रहे हैं। जन्म और जाति प्रमाण पत्र बनने में जहां कई सप्ताह गुजर जाया करते थे, अब अफसर, नेता लोगों के सर्टिफिकेट लेकर खुद घर पहुंच रहे हैं। शनिवार की दोपहर सरकारी छुट्‌टी थी। मगर एक शख्स के घर रायपुर के कलेक्टर सौरभ कुमार पहुंच गए और उन्हें उनके तैयार डॉक्यूमेंट सौंपे। कहा ये लिजिए जन्म और जाति प्रमाण पत्र।

कलेक्टर ने परिवार से बात भी की।
कलेक्टर ने परिवार से बात भी की।

दरअसल संतोषी नगर निवासी नरेश साहू ने अपने नवजात बच्चे के जन्म प्रमाण पत्र का आवेदन टोल फ़्री नंबर 14545 पर किया था। आवेदन के महज 12 घंटे के भीतर ही मितान (छत्तीसगढ़ी बोली में दोस्त) बनकर रायपुर के कलेक्टर सौरभ कुमार और नगर निगम कमिश्नर प्रभात मलिक नरेश के घर पहुंच गए। अफसरों ने परिजनों को शिशु का न केवल जन्म प्रमाणपत्र, बल्कि साथ ही साथ निवास और जाति प्रमाणपत्र भी सौंपा। आवेदक साहू ने कहा कि डॉक्यूमेंट इतनी जल्दी मिल जाएंगे सोचा नहीं था।

13 तरह के डॉक्यूमेंट अब घर बैठे
1 मई को वर्चुअल समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मितान योजना का शुभारंभ किया था। यह योजना प्रदेश के सभी 14 नगर निगमों में लागू की जा रही है। लोगों को मूल निवास प्रमाण पत्र, जाति प्रमाणपत्र, आय प्रमाण पत्र, दस्तावेज़ के नकल के लिए अनुरोध, गैर-डिजिटाइज्ड (भूमि रिकॉर्ड आदि की प्रति), जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र, विवाह पंजीकरण और प्रमाणपत्र, दुकान पंजीकरण, भूमि की जानकारी, जन्म प्रमाणपत्र सुधार, मृत्यु प्रमाणपत्र सुधार, विवाह प्रमाणपत्र सुधार जैसी सर्विस घर बैठे दी जा रही है। इसके लिए आवेदन करने के लिए टोल फ़्री नम्बर-14545 पर कॉल किया जा सकता है।