रायपुर में BJP पार्षद ने छात्र को पीटा:दशहरा मैदान में खेल रहे किशोर से पार्षद बोला- तुम्हारा बाप भी मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकता

रायपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पार्षद मनोज वर्मा। - Dainik Bhaskar
पार्षद मनोज वर्मा।

भारतीय जनता पार्टी के पार्षद मनोज वर्मा के खिलाफ रायपुर के टिकरापारा थाने में FIR दर्ज की गई है। पार्षद पर आरोप है कि उसने 18 साल के एक स्कूली छात्र को बेवजह पीट दिया। उसके मां-बाप से भी गाली गलौज की। अपने पद की धौंस दिखाते हुए पार्षद ने पूरे परिवार को धमकियां दी। स्टूडेंट के परिजनों की शिकायत के आधार पर पार्षद के खिलाफ इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। दूसरी तरफ पार्षद अपने ऊपर लगे आरोपों को बेबुनियाद और फंसाने की साजिश बता रहे हैं।

घटना 9 अक्टूबर की दोपहर रावणभाटा दशहरा मैदान की है। मठपुरैना में रहने वाला 12वीं का छात्र दीपक चक्रधारी स्कूल से छुट्‌टी होने पर अपने दोस्तों हर्षल सिंह और दुष्यंत साहू के साथ लौट रहा था। मैदान के पास पहुंचकर तीनों हंसी मजाक करने लगे। इतने में मैदान में दशहरा कार्यक्रम की तैयारी में जुटे पार्षद मनोज वर्मा ने तीनों को देखा और करीब आकर कहने लगा- तुम लोग यहां आकर गुंडागर्दी कर रहे हो, ये दशहरा मैदान है। मैं यहां का अध्यक्ष हूं। इसके बाद पार्षद ने लड़कों को गालियां देना शुरू कर दिया।

विरोध करने पर डंडे से छात्र को पीटा, पिता से भी अभद्रता की
छात्रों के विरोध करने पर पार्षद ने पंडाल के काम के लिए रखे डंडे को उठाया और दीपक की पिटाई कर दी। ये देखकर उसके दोस्त वहां से भाग गए। पार्षद यहीं नहीं रुका उसने दीपक से उसके पिता राधेश्याम चक्रधारी का फोन नंबर लिया। पार्षद ने स्टूडेंट के पिता से भी फोन पर बदसलूकी की। स्टूडेंट अपनी जांघ में आई चोट को थामकर मैदान में पड़ा हुआ था और पार्षद उसके पिता को गालियां देते हुए कह रहा था- अपने बेटे को संभाल कर रखो।

मां ने फोन पर बात की तो बेटे की टांग तोड़ने की धमकी दी
कुछ देर बाद जब पार्षद वहां से चला गया तो जैसे-तैसे स्टूडेंट दीपक अपने घर पहुंचा और मां को सारी बात बताई। मां ने पार्षद को फोन किया। मनोज वर्मा ने दीपक की मां से बात करते हुए कहा- तुम्हारा लड़का अगर दोबारा रावणभाठा मैदान में दिखा तो मै टांग तोड़ दूंगा। दीपक के परिजन का दावा है कि घटना के बाद परिवार डर गया था, मगर धमकियों से तंग आकर अब पार्षद के खिलाफ शिकायत की है। थानेदार संजीव मिश्रा ने बताया कि 294-IPC, 323-IPC, 506(B)-IPC में केस दर्ज किया है। मामले की जांच कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...