कालीचरण को CM की चेतावनी:भूपेश बोले- इतना साहसी है तो सरेंडर करे, वरना पकड़कर लाएगी छत्तीसगढ़ पुलिस; महाराष्ट्र में भी FIR

रायपुरएक वर्ष पहले

स्वयंभू संत कालीचरण द्वारा महात्मा गांधी के बारे में अपशब्द बोलने और उनके हत्यारे का जयघोष करने से उठा विवाद तूल पकड़ गया है। मंगलवार को कालीचरण के ताजा बयान के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उसे सरेंडर की चेतावनी दी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा- कालीचरण बहुत साहसी है तो यहां आकर सरेंडर करे, नहीं तो छत्तीसगढ़ पुलिस गिरफ्तार करने जाएगी। उधर, कालीचरण के खिलाफ महाराष्ट्र के अकोला में भी एक मामला दर्ज करा दिया गया है। कांग्रेस नेता की शिकायत पर वहां भी कालीचरण के खिलाफ रायपुर में दर्ज केस की तरह ही धाराएं लगी हैं।

किसान सम्मेलन के लिए बालोद जिले के गोडमर्रा रवाना होने से पहले रायपुर हेलिपैड पर मुख्यमंत्री ने ताजा विवाद पर बात की। मुख्यमंत्री ने कहा, इस मामले में अपराध पंजीबद्ध हो गया है। विवेचना हो रही है। जो भी दोषी होगा कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा, इस कार्यक्रम के आयोजक से भी पुलिस पूछताछ करेगी। कालीचरण को अपने बयान पर दु:ख नहीं है तो यहां आकर सरेंडर करना चाहिए। कार्रवाई का सामना करना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा- छोड़ने का सवाल ही नहीं उठता। उसके खिलाफ FIR दर्ज हो चुकी है। वह बहुत साहसी है तो आकर सरेंडर करे। बाहर-बाहर इस तरह की बयानबाजी की बजाय पुलिस को सरेंडर करें। नहीं तो छत्तीसगढ़ पुलिस गिरफ्तार करने तो जाएगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इस बयान से साफ है कि सरकार इस मामले में नर्मी बरतने को तैयार नहीं है। रायपुर में आयोजित धर्म संसद में महात्मा गांधी को खुलेआम अपशब्द कहने से कांग्रेस का पूरा संगठन और सरकार आक्रोशित है।

रमन सिंह पर भी पलटवार
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने धर्म संसद के आयोजन को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के आरोपों पर भी पलटवार किया है। मुख्यमंत्री ने कहा, धर्म संसद के उद्घाटन और कलशयात्रा में रमन सिंह किसी कांग्रेसी के बुलाने पर गए थे क्या? अगर भाजपा के लोगों का जुड़ाव था तो बात होगी। रमन सिंह ने आरोप लगाया था कि धर्म संसद कांग्रेस का आयोजन था, भाजपा को उसके लिए वेवजह घसीटा जा रहा है।

FIR के बाद कालीचरण का चैलेंज:कहा- गांधी को गाली दी अफसोस नहीं, मृत्युदंड भी स्वीकार; गोडसे को मेरा साष्टांग प्रणाम

नया वीडियो जारी कर सरकार को चुनौती दी थी
विवादित बयान के बाद रायपुर से जा चुके कालीचरण ने नया वीडियो जारी कर छत्तीसगढ़ सरकार को चुनौती दी है। इस वीडियो में कालीचरण ने कहा, गांधी को अपशब्द कहने के लिए मुझ पर एफआईआर हुई है। मुझे उसका कोई पश्चाताप नहीं है। मैं गांधी से नफरत करता हूं, मेरे हृदय में गांधी के प्रति तिरस्कार है। हत्यारे नाथूराम गोडसे को महात्मा बताते हुए कालीचरण ने कहा, मैं गोडसे को कोटि-कोटि नमस्कार करता हूं उनके चरणों में मेरा साष्टांग प्रणाम है।

बापू का अपमान करने वाले संत पर FIR:महाराष्ट्र के संत कालीचरण पर कांग्रेस ने दर्ज कराया मामला, ढोंगी बाबा हाय-हाय के नारे लगाए

महाराष्ट्र में भी दर्ज हुआ मामला
रायपुर की धर्म संसद में गांधी को गाली देने वाली संत कालीचरण के खिलाफ अकोला में पुलिस ने अपराध दर्ज किया है। बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता कोतवाली पहुंचे। वहां कांग्रेस नेता प्रशांत गावंडे की रिपोर्ट पर कालीचरण उर्फ अभिजीत धनंजय सरग के खिलाफ धारा 294, 505 (2) के तहत केस रजिस्टर्ड किया गया। इन्हीं धाराओं के तहत रायपुर में भी पुलिस ने मामला बनाया है। रायपुर पुलिस के बाबा की गिरफ्तारी के लिए महाराष्ट्र जाने की खबर भी है। बाबा महाराष्ट्र में ही रहते हैं।

खबरें और भी हैं...