ताकि चलती रहीं सांसें:रायपुर आई ऑक्सीजन एक्सप्रेस, खाली टैंकर्स को विशाखापट्‌टनम में भरकर फिर इसी रास्ते से मुंबई पहुंचेगी ट्रेन

रायपुर6 महीने पहले
ट्रेन पर इस तरह से ट्रक रखकर ले जाए जा रहे हैं। फाइल फोटो।

बुधवार को मुंबई से होते हुए ऑक्सीजन एक्सप्रेस रायपुर आई। इस ट्रेन पर 7 खाली ऑक्सीजन टैंकर लदे हैं। ये ट्रेन विशाखापट्‌टनम जाएगी। वहां खाली टैंकर में ऑक्सीजन भरी जाएगी। वहां ये ये ट्रेन फिर से मुंबई जाएगी। फिर वहां के आस-पास के इलाकों राज्यों में ऑक्सीजन की सप्लाई होगी। इस ट्रेन को कम समय में अपनी मंजिल तक पहुंचाने के लिए रेलवे ने खास इंतजाम किए हैं। रायपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के गार्ड और ड्राइवर बदले। यहां से नए दूसरे कर्मचारी ट्रेन को आगे लेकर गए।

ट्रेन के लिए बना है ग्रीन कॉरिडोर
इस ट्रेन को चलाने का फैसला केंद्र सरकार ने लिया था। इसे आधिकारिक तौर पर ऑक्सीजन एक्सप्रेस ही नाम दिया गया। ये ट्रेन रायपुर के रेलवे स्टेशन पर 20 मिनट के लिए रुकी। इसके बाद ट्रेन लगातार चलेगी और शाम तक विशाखापट्‌टनम पहुंचेगी। वहां से रात में ट्रेन मुंबई के लिए निकलेगी। गुरुवार को ये ट्रेन मुंबई पहुंचेगी। ये ट्रेन ड्राइवर बदलने या किसी टेक्निकल दिक्कत आने पर ही रोकी जाएगी। इस ट्रेन के लिए रूट को क्लियर रखा गया है। हर जगह इसे ग्रीन सिग्नल ही मिलेंगे। किसी दूसरे ट्रेन के लिए इसे रोका भी नहीं जाएगा जैसा आमतौर पर यात्री गाड़ियों के साथ होता है।

छत्तीसगढ़ का ऑक्सीजन लेवल
सरकार का दावा है कि प्रदेश में मेडिकल ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। इस वक्त में राज्य के पास 243 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन उपलब्ध है। इसका जिम्मा संभाल रहे अफसर डाॅक्टर अयाज तंबोली ने बताया कि रायपुर मेडिकल कालेज को NMDC जगदलपुर से 150 ऑक्सीजन सिलेंडर दिए जा रहें, राजनांदगांव में भी 150 सिलेंडर भेजे जा रहे हैं। प्राइवेट कंपनियों से अफसर लगातार संपर्क कर प्रोडक्शन करवा रहे हैं। दूसरी तरफ बढ़ते मरीजों की वजह से राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार से 285 वैंटिलेटर जल्द से जल्द देने की मांग की है।