ऋचा जोगी पर FIR के बाद बवाल शुरू:गृहमंत्री के घर का घेराव करने निकले JCCJ कार्यकर्ता, पुलिस के साथ हुई झूमाझटकी

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने कार्यकर्ताओं को रास्ते में ही रोक लिया। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने कार्यकर्ताओं को रास्ते में ही रोक लिया।

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की बहू ऋचा जोगी पर गलत जाति प्रमाण पत्र पेश करने के आरोप में हुई FIR पर बवाल बढ़ते जा रहा है। शुक्रवार को जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जोगी) के कार्यकर्ताओं ने गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू का निवास धेराव किया। JCCJ के कार्यकर्ताओं ने सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की। इस दौरान पुलिस के साथ कार्यकर्ताओं की झूमाझटकी भी हुई है।

दरअसल, बड़ी संख्या में जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ता सिविल लाइन में जोगी निवास में जमा हुए और वहां से रैली निकालकर गृह मंत्री के बंगले की ओर बढ़े। इन प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने भी अपनी तैयारी की थी। यही वजह है कि कबीर चौक में ही बैरिकेड लगाकर कार्यकर्ताओं को रोक लिया गया। इस बीच 1 घंटे तक रास्ते मे खूब माहौल गरमाया रहा।

पुलिस के साथ हुई झूमाझटकी।
पुलिस के साथ हुई झूमाझटकी।

प्रदर्शन को लेकर अजीत जोगी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू ने कहा की जब अजीत जोगी कांग्रेस पार्टी में थे। तब तक वे सरकार की नजरों में आदिवासी थे। जब उन्होंने पार्टी छोड़ी और नई पार्टी का गठन किया। अब वे गैर आदिवासी हो गये। आज जब उनका देहांत हो गया है तो फिर से उनके परिवार को परेशान किया जा रहा है।

साहू ने आगे कहा भाजपा और कांग्रेस प्रदेश में जोगी परिवार को मिलने वाले समर्थन से डर गई है और अब झूठी FIR करवा रही है। यह BJP और कांग्रेस दोनों पार्टियों को जोगेरिया हो जाता है और वह इसी तरह से झूठे आरोप लगाती हैं। उन्होंने सरकार से सवाल करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ही बता दें कि अमित और ऋचा जोगी की जाति क्या है, या फिर ये धोषणा कर दे कि पूरे भारत देश में ये एकमात्र ऐसा परिवार हैं जिनकी कोई जाति ही नहीं है।

खुद को ST बताया, जोगी की बहू पर केस:छग के पूर्व CM का जाति प्रमाणपत्र गलत था; अब बहू का मरवाही उपचुनाव में जमा सर्टिफिकेट भी फर्जी बताया गया