रविवि की सेमेस्टर परीक्षा इस महीने से शुरू होगी:स्कूल बंद लेकिन कॉलेजों में लग रही कक्षाएं, सेमेस्टर एग्जाम ऑफलाइन होने के आसार

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमण की वजह से स्कूलों में ऑफलाइन पढ़ाई बंद कर दी गई है। छात्र अब ऑनलाइन पढ़ाई करेंगे। जबकि कॉलेजों में कक्षाएं लग रही है। अच्छी-खासी संख्या में छात्र कॉलेज जा रहे हैं। इसे लेकर अब आसार बन रहे हैं इस बार रविवि की परीक्षाएं ऑफलाइन होगी।

सेमेस्टर परीक्षा जनवरी से शुरू होगी। इसका टाइम टेबल भी जारी किया जा चुका है। स्कूल व कॉलेजों को लेकर अलग-अलग आदेश जारी होते हैं। पिछली बार पूरी उपस्थिति के साथ स्कूल खोलने के निर्देश दिए गए। लेकिन तब कॉलेजों में 50 प्रतिशत बैठक क्षमता के अनुसार छात्रों को बुलाने की अनुमति दी गई। ऑनलाइन कक्षाएं जारी रही। कई दिनों के बाद कॉलेजों को भी पूरी क्षमता व छात्र संख्या के साथ पढ़ाने शुरू करने की अनुमति मिली।

इसके अनुसार ही अब भी पढ़ाई चल रही है। कोरोना के मामले बढ़ने के बाद कक्षा पहली से लेकर बारहवीं तक के छात्रों की ऑफलाइन पढ़ाई बंद कर दी गई है। यहां तक की दसवीं-बारहवीं की प्रैक्टिकल परीक्षा टलने के संकेत मिल रहे हैं। वहीं दूसरी ओर कॉलेजों में बड़ी संख्या में छात्र पहुंच रहे हैं। कई कॉलेजों में इंटर्नल एग्जाम भी हो रहे हैं। कॉलेज के अधिकारियों का कहना है कि कॉलेजों में ऑफलाइन पढ़ाई बंद करने से संबंधित कोई निर्देश नहीं मिले हैं। इसलिए पुराने निर्देश के अनुसार ऑफलाइन पढ़ाई चल रही है। गौरतलब है कि 18 वर्ष से अधिक उम्र के कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों में कोरोना के कई मामले मिले। पांच दिनों में करीब पौने चार सौ छात्र संक्रमित मिले।

थर्ड सेमेस्टर की परीक्षा 23 से
रविवि सेमेस्टर एग्जाम 23 जनवरी से शुरू होगा। इसके तहत थर्ड सेमेस्टर का पेपर होगा। प्रथम सेमेस्टर की परीक्षाएं 11 फरवरी से शुरू होगी। इसके लिए कुछ दिन पहले टाइम टेबल जारी किया गया था। कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने के बाद परीक्षा को लेकर संशय की स्थिति बनी। लेकिन कॉलेजों में अब भी ऑफलाइन कक्षाएं लग रही है। इसे लेकर संभावना है कि इस बार विवि की परीक्षाएं ऑफलाइन मोड में होगी। छात्रों को घर आकर पेपर लिखना होगा। पिछली बार छात्रों ने घर से पेपर लिखा था।

कॉलेजों के हॉस्टल भी खुले
कोरोना संक्रमण की वजह से पिछली बार स्कूल के साथ कॉलेज भी बंद थे। साथ ही हॉस्टल को भी बंद दिया गया था। कुछ दिन पहले हॉस्टल खोलने की अनुमति दी गई। इसके बाद कॉलेजों की ओर से छात्रों को हॉस्टल की सीटें आबंटित की गई। कोरोना को लेकर मामले बढ़े। लेकिन कॉलेजों में अब भी पढ़ाई चल रही है। यहां तक की हॉस्टल भी खुले हैं। इसे लेकर कॉलेज के अधिकारियों का कहना है कि हॉस्टल में उन्हीं छात्रों को एडमिशन दिया गया। जिन्होंने वैक्सीन के दोनों डोज लिए थे। हॉस्टल को लेकर नया कोई निर्देश नहीं आया है।

खबरें और भी हैं...