पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना का असर:स्कूल अगस्त तक बंद इसलिए टीईटी इस माह भी नहीं, मार्च में होने वाली थी परीक्षा

रायपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

सरकारी स्कूल व काॅलेज छात्रों के लिए अगस्त तक बंद हैं। इसलिए शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) इस महीने भी नहीं होगी। मार्च में यह पात्रता परीक्षा होने वाली थी लेकिन कोरोना वायरस की वजह से
परीक्षा का आयोजन नहीं हो पाया। इसके बाद से लगातार ऐसी स्थितियां निर्मित है जिसमें परीक्षा संभव नहीं है। टीईटी के लिए व्यापमं को करीब एक लाख से अधिक आवेदन मिले हैं। शिक्षाविदों ने बताया कि अगस्त को दूर की बात है, सितंबर में भी परीक्षा मुश्किल है। कोरोना काल में परीक्षा का आयोजन सुरक्षा के लिहाज से मुमकिन नहीं है। यही वजह है कि व्यापमं से होने वाली प्रवेश परीक्षाएं इस साल आवेदन आने के बाद भी नहीं हुई। राज्य के कई स्कूल क्वारंटाइन सेंटर में तब्दील हो चुके हैं। इन्हीं स्कूलों में आमतौर पर परीक्षा के लिए सेंटर बनाए जाते थे। काॅलेजों की भी कुछ ऐसी ही स्थिति है। यह भी छात्रों के लिए बंद है। इसलिए अभी कुछ महीनों तक टीईटी का आयोजन संभव नहीं है।
सर्टिफिकेट की वैधता सात साल की होगी : शिक्षाविदों ने बताया कि टीईटी क्वालिफाई करने पर एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा। इसकी वैधता सात साल की होगी। यानी सात साल तक पात्रता से संबंधित इस सर्टिफिकेट का उपयोग किया जा सकता है। गौरतलब है कि टीईटी प्राइमरी व मिडिल कक्षाओं में अध्यापन की पात्रता के लिए आयोजित की जाती है।

परीक्षा के लिए तैयारी जारी रखें : शिक्षाविदों ने बताया कि कोरोना वायरस की वजह से स्कूल व काॅलेजों में पढ़ाई प्रभावित हुई। कई परीक्षाएं रद्द की गई। कई परीक्षाओं का स्वरूप बदला। टीईटी मार्च मे आयोजित होने वाली थी, लेकिन अब अगस्त में भी इसका आयोजन नहीं होगा। हालांकि, कुछ महीने बाद यह परीक्षा होगी। इसलिए तैयारी जारी रखें। परीक्षा में 150 नंबरों के सवाल पूछे जाएंगे। क्वालिफाई करने के लिए सामान्य वर्ग के छात्रों को कम से कम 60 प्रतिशत नंबर प्राप्त करने होंगे। इसी तरह आरक्षित वर्ग के लिए न्यूनतम नंबरों का प्रतिशत अलग है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement