राष्ट्रगान 5 साल से लगातार:श्यामनगर गांव... रोज सुबह 9 बजे राष्ट्रगान, जो जहां है वहीं सावधान

रायपुर10 दिन पहलेलेखक: कौशल स्वर्णबेर
  • कॉपी लिंक

कौशल स्वर्णबेर रायपुर से लगभग 55 किमी दूर गरियाबंद के गांव श्यामनगर में अगर सुबह 9 बजे पहुंचे तो ऐसा दृश्य देखेंगे कि मन में राष्ट्रभक्ति की हिलोरें उठने लगेंगी। इस गांव में पांच साल से रोज सुबह 9 बजे लाउडस्पीकरों पर राष्ट्रगान बज रहा है। जैसे ही राष्ट्रगान शुरू होता है, जो जहां है वहीं सावधान हो जाता है।

गांव के 45 लोगों की टीम ने पहली बार लाउडस्पीकर पर 26 जनवरी 2018 को राष्ट्रगान बजाया। यह गांव की दिनचर्या में शामिल है। 15 सौ की आबादी वाले इस गांव के लोगों ने बताया कि समर्पण ग्रुप के अध्यक्ष प्रेमलाल साहू, मनोज साहू, कोमल साहू, पवन साहू आैर उनकी टीम ने गांव में रोज राष्ट्रगान बजाने की पहल शुरू की।

जाए। यह बात भी आए कि राष्ट्रगान होगा, लेकिन अपमान नहीं होना चाहिए। तब गांव में बड़ी बैठक की गई। सबकी सहमति बनी कि राष्ट्रगान बजते समय जो व्यक्ति जहां और जिस स्थिति में होगा, वहीं सावधान की मुद्रा में आ जाएगा। इसके बाद तय हुआ कि राष्ट्रगान लाउडस्पीकर पर बजेगा।

इसके लिए ग्राम समिति, व्यापारी समिति, जरई श्यामसुंदर समिति और पंचायत ने एक लाख रुपए चंदा इकट्ठा किया और 12 लाउडस्पीकर तथा सिस्टम खरीदा गया। लाउडस्पीकर गांव में तीन जगह लगे हैं। पूरा सिस्टम सोलर पैनल और इन्वर्टर से कनेक्ट है। यानी बिजली न भी रहे तो राष्ट्रगान होता ही है।

राष्ट्रगान से पहले देशभक्ति गीत

राष्ट्रगान शुरू होने से पहले एक देशभक्ति गीत बजता है, ताकि गांववाले अलर्ट हो जाएं। गीत खत्म होते ही संबोधन के साथ राष्ट्रगान शुरू हो जाता है। तब तक सभी लोग सावधान की मुद्रा में आ जाते हैं। गांव की सरपंच दुर्गा छन्नू साहू के मुताबिक समर्पण ग्रुप के इस प्रयास का असर गांव के बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक देखा जा सकता है। इस गांव में स्वच्छ भारत अभियान में भी अच्छा काम हुआ और बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण भी हुआ है।