भास्कर एक्सक्लूसिव:प्रदेश के हर जिले से एक जैसी रिपोर्ट, ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं

रायपुर2 महीने पहलेलेखक: पीलूराम साहू
  • कॉपी लिंक
  • केंद्र की चिट्ठी के बाद सभी सीएमएचओ ने शासन को भेजी जानकारी

कोरोना की दूसरी लहर में भले ही ऑक्सीजन बेड के लिए मारामारी मची रही और बेड नहीं मिलने से कई कोरोना मरीजों की मौत की खबरें आती रहीं, लेकिन प्रदेश के सभी जिलों के सीएमएचओ ने साफ कर दिया है कि उनके यहां ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं हुई है।

संसद में पिछले दिनों ऑक्सीजन की कमी से मौतों को लेकर हंगामे के बाद केंद्र ने छत्तीसगढ़ समेत हर राज्य को चिट्ठी भेजकर पूछा था कि उनके यहां आक्सीजन संकट में कितनी जानें गईं? तब प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा था कि इस वजह से एक भी मौत नहीं हुई, फिर भी शासन ने सभी 29 जिलों से यह जानकारी मंगवाई थी। जिलों ने शासन को जानकारी भेज दी है, जिसमें कहा गया है कि ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई और किसी मरीज के परिजनों ने यह शिकायत भी नहीं की है। राज्य चार-पांच दिन में यही जवाब केंद्र को भेजने वाला है।

संसद में जुलाई के आखिरी सप्ताह में केंद्र ने देशभर में ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं होने की जानकारी दी थी, तब हंगामा हो गया था। इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग की ओर से छत्तीसगढ़ समेत सभी राज्यों को मेल आया था, जिसमें यह जानकारी मांगी गई थी। इस आधार पर स्वास्थ्य विभाग ने जुलाई अंत में प्रदेश के सभी सीएमएचओ से ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों का ब्योरा मंगवा लिया। प्रदेश में अप्रैल व मई में कोरोना से सबसे ज्यादा मौत हुई थी। इन दो माह में 8878 मरीजों की जान गई थी, जो पिछले 16 महीनों में सर्वाधिक है। राजधानी में 1501 मरीजों की मौत केवल अप्रैल में हुई थी।

अप्रैल में 180 टन ऑक्सीजन की जरूरत, दोगुने थे
अप्रैल में 26 व 27 तारीख को सबसे ज्यादा 180 टन ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी, तब प्रदेश में ऑक्सीजन का उत्पादन 410 मीट्रिक टन हो रहा था। अधिकारियों का दावा है कि सरकारी समेत निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलेंडर जरूरत के पहले पहुंच जा रहे थे। हालांकि अंबेडकर अस्पताल में अप्रैल में ऑक्सीजन सप्लाई बाधित हुई थी। कुछ देर के लिए फोर्स कम हो गई थी। इससे जान जाने की कोई खबर नहीं है। प्रबंधन ने भी स्वीकार किया था कि सप्लाई की तुलना में ज्यादा डिमांड की वजह से तकनीकी समस्या आई थी, जिसे बाद में सुधार लिया गया था।

4 से 5 दिन में केंद्र को रिपोर्ट भेजेंगे
सभी 29 जिलों से जानकारी आ गई है। सभी जिलों ने स्पष्ट किया है कि ऑक्सीजन की कमी से उनके यहां कोई मौत नहीं हुई। वहां से आई जानकारी कंपाइल की जा रही है। केंद्र सरकार को 4-5 दिनों में जवाब भेज देंगे।
-डॉ. सुभाष मिश्रा, डायरेक्टर महामारी नियंत्रण

खबरें और भी हैं...