पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्मार्ट रोड के लिए चुने गए बाजार:शहर में 7 भीड़भरे बाजारों के बीच अब बनेंगी स्मार्ट सड़कें, पूरा प्रोजेक्ट 30 करोड़ का

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजधानी में ऑक्सीजोन के जीई रोड वाले गेट के सामने की सड़क को स्मार्ट रोड में बदलने वाले स्मार्ट सिटी ने अब राजधानी के सात व्यस्त तथा भीड़भरे बाजारों में एक-एक प्रमुख सड़क को स्मार्ट रोड में तब्दील करने का फैसला किया है। इसके लिए घने शहर की सात सड़कें चुन ली गई हैं, जिन्हें स्मार्ट रोड में बदला जाएगा। ये सात सड़कें 650 मीटर से लेकर 2 किमी तक लंबी हैं।

इस प्रोजेक्ट को लगभग फाइनल कर लिया गया है और बुनियादी काम जुलाई के पहले हफ्ते से शुरू कर दिए जाएंगे। स्मार्ट सिटी इस प्रोजेक्ट में 30 करोड़ रुपए खर्च करने जा रहा है। इसी फंड में स्मार्ट सड़कें बनाने के साथ-साथ कुल 30 किमी सड़कों को अपग्रेड किया जाएगा। जिन सात सड़कों को स्मार्ट सिटी स्मार्ट रोड में बदलने जा रहा है, उनमें जयस्तंभ चौक से शास्त्री चौक, जयस्तंभ चौक से फाफाडीह चौक, कलेक्टोरेट से खालसा स्कूल, शास्त्री चौक से महिला थाना, कोतवाली से नगर निगम मुख्यालय, महिला थाना ओसीएम चौराहे से होते हुए राजीव गांधी चौक और आमापारा से लाखे नगर होते हुए जीईरोड तक की सड़क को स्मार्ट बनाया जाना है।

सब मिलाकर दर्जनभर सड़कों के लिए बना प्रोजेक्ट
स्मार्ट सिटी ने करीब तीन साल पहले 400 करोड़ का स्मार्ट सड़क का एक बड़ा प्लान बनाया था। जिसके तहत इनर और आउटर सर्किल में शहर में करीब 50 किलोमीटर सड़क बनाई जानी थीं। सर्वे और प्लानिंग के दो साल बाद स्मार्ट सिटी ने इस प्रोजेक्ट को ड्रॉप कर दिया। बाद में पिछले साल इस प्रोजेक्ट को छोटी छोटी स्मार्ट सड़कों के रूप में बदल दिया गया। इसमें स्मार्ट सिटी ने एक दर्जन से ज्यादा सड़कों का प्लान बनाया है।

स्मार्ट रोड में ये सब

  • तारों की अंडरग्राउंड केबलिंग, स्मार्ट लाइटिंग।
  • यूटिलिटी के लिए ज्यादा स्कोप व स्मार्ट सिस्टम।
  • अच्छे टॉयलेट, वाटर एटीएम और मॉडर्न पार्किंग।
  • रोड पर ट्रैफिक मार्किंग, बरसाती पानी के ड्रैनेज।
  • बारिश के पानी का निकासी का पुख्ता सिस्टम।
  • पैदल चलने वालों के लिए यहां ग्रीन फुटपाथ।
  • पूरी सड़क का अाधुनिक तौर पर सौंदर्यीकरण।
खबरें और भी हैं...