पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रायपुर की बाढ़ पर विधायक का ज्ञान:घंटों डूबा रहा शहर, कांग्रेस विधायक बोले - शहर की भौगोलिक बनावट ही कुछ ऐसी है, यह ऊपरवाले की वजह से हुआ, फिर भी जितना कर सकते थे किया गया

रायपुर11 दिन पहले
कांग्रेस विधायक कुलदीप जुनेजा ने कल की बाढ़ के लिए रायपुर शहर की भौगोलिक बनावट को जिम्मेदार बताया है।

करीब एक-डेढ़ घंटे की तेज बरसात में कल रायपुर शहर पानी-पानी हो गया। जल निकासी तंत्र फेल होने की वजह से शहर की सड़कें, गलियां, मोहल्ले और मकान घंटों तक पानी में डूबे रहे। अब कांग्रेस विधायक कुलदीप जुनेजा ने इसके लिए शहर की भौगोलिक बनावट को जिम्मेदार ठहरा दिया है। उन्होंने यह भी कहा, यह ऊपरवाले की वजह से हुआ। फिर भी इंसान के तौर पर जितना कर सकते थे, हमने किया।

रायपुर में प्रेस से बात करते हुए रायपुर उत्तर से विधायक कुलदीप जुनेजा ने कहा, विधायक, पार्षद, महापौर सभी कल पूरे समय रोड पर लगे रहे। जहां जितना लगा सकते थे, उतना अमला लगाया गया। जो संसाधन थे, उसके अनुसार उन्होंने काम किया लेकिन शहर की भौगोलिक स्थिति कुछ ऐसी है। कई जगह ऐसी है जहां मकान बने हैं, नाले के पाटे हैं जो तोड़ नहीं सकते। पानी की निकासी नहीं है तो यह अखरता है। यह तो ऊपरवाले का था। इसके बावजूद इंसान के तौर पर जो हमसे हो सकता था हम करते हैं। लेकिन 15 साल उनको भी तो याद कर लेना चाहिए था। इधर भाजपा के विधायक शहर में जलभराव के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा, रायपुर में सभी तरफ पानी भरा हुआ है। लोग घंटों ट्रैफिक जाम में फंसे। क्या स्मार्ट सिटी के पैसे की इस बंदरबाट से स्मार्ट सिटी बनाएगी सरकार। कांग्रेस नेताओं ने शहर में जल निकासी का प्रबंध नहीं होने के लिए 15 साल के भाजपा शासन काे जिम्मेदार ठहराया है। वहीं भाजपा नेता रायपुर नगर निगम की सत्ता पर 11 वर्ष से काबिज कांग्रेस की कार्यप्रणाली को दोष दे रही है। आरोपों-प्रत्यारोपों के बीच अभी भी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

जाते मानसून ने किया रायपुर को पानी-पानी:एक घंटे में 30 मिमी बारिश, नदी-नाले उफनाए, सड़कें बनी तालाब; कई कॉलोनियों में घरों के अंदर तक घुसा पानी

प्रशासन का दावा, तत्काल पम्प लगाकर निकाला गया पानी

रायपुर नगर निगम प्रशासन का दावा है, मूसलाधार बारिश की वजह से जलभराव का पानी तत्काल निकाला गया। इसके लिए अलग-अलग क्षेत्रों में पम्प लगाए गए। देवेंद्र नगर, कलिंग नगर, गुढियारी, त्रिमुर्ति नगर, ऑफिसर्स कॉलोनी में पम्प लगाकर पानी निकाला गया। रामकुण्ड बस्ती में भी 4पम्प लगाकर पानी निकाला गया।

बाढ़ में ही कराई गई नालों की सफाई

बताया गया, डीआरएम ऑफिस के पास से ओवरफ्लो हो रहे नाले की सफाई कराई गई। समता कॉलोनी, चौबे कॉलोनी, रामनगर अंडरब्रिज नाला की सफाई विशेष सफाई कराई गई। कोटा मुख्य मार्ग नाले की सफाई हुई तो सड़क का पानी उतरा। अणुव्रत नाला, जलविहार कॉलोनी, अनुपम नगर, शंकर नगर नाला, राजीव नगर नाला की सफाई कर पानी निकलने का रास्ता बनाया गया। कविता नगर, अवन्ति विहार कॉलोनी नाला एवं उद्योग भवन क्षेत्र में नालों की सफाई के बाद बरसाती बाढ़ से थोड़ी राहत मिली।

खबरें और भी हैं...