बेटी की मौत के बाद न्याय की गुहार:68 साल के बुजुर्ग का दावा- ससुराल वालों ने मेरी बेटी का कत्ल किया, गृहमंत्री को ज्ञापन सौंपकर कहा-उन्हें गिरफ्तार करें

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस और मंत्रियों के दर पर पिता न्याय की आस लिए पहुंच रहे हैं। - Dainik Bhaskar
पुलिस और मंत्रियों के दर पर पिता न्याय की आस लिए पहुंच रहे हैं।

रायपुर के उरला इलाके के नागेश्वर नगर में एक युवती की मौत के मामले में 68 साल के बुजुर्ग न्याय के लिए भटक रहे हैं। इस पिता का दावा है कि ससुराल वालों ने हत्या के बाद घटना को खुदकुशी का रूप दे दिया। पुलिस इस मामले में बेटी के ससुराल वालों पर कार्रवाई नहीं कर रही है। बुजुर्ग ने गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू को ज्ञापन सौंपकर आरोपी ससुराल पक्ष के खिलाफ जांच और कार्रवाई की मांग की है।

गृहमंत्री को दिया पत्र।
गृहमंत्री को दिया पत्र।

मूलत: बिहार के रहने वाले बुजुर्ग शौकत अली ने बताया कि उन्हें बीते 3 सितंबर को बेटी नूरजहां उर्फ गुड़िया के खुदकुशी कर लेने की जानकारी मिली। तब वो बिहार के वैशाली जिले के अपने घर में थे। 3 सितंबर से पहले कई बार उनकी बेटी ने कहा था कि ससुराल वाले उसे परेशान कर रहे हैं, पति नजरुद्दीन उसे पीटता है। सास, जेठ, देवर, देवरानियां मिलकर परेशान करते हैं। मायके वालों से बात करने पर टोकते हैं। इसे लेकर वो कई बार ससुराल वालों से भी बात कर चुके थे, मगर अब बेटी की मौत की खबर ने पूरे परिवार को परेशान कर दिया।

3 सितंबर को युवती का शव इस हाल में मिला।
3 सितंबर को युवती का शव इस हाल में मिला।

17 दिन बाद दर्ज हुआ केस
शौकत अली ने बताया कि वो बिहार से कई बार रायपुर आए। थाने के चक्कर लगाए, अफसरों से मुलाकात की तो बमुश्किल बेटी की सास दरूदन खातून, पति नजरूद्दीन उसके भाई साहेब , मो. समसुदीन, इनकी पत्नियां सकीला खातून, शहनाज बानो, तमन्ना बानो पर पुलिस ने 20 सितंबर को खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज किया। पुलिस ने अब तक की जांच में ये पाया है कि परिवार ने मिलकर युवती को परेशान किया, जिसके चलते उसने जान दी। अब इस मामले में एक महीना बीत जाने के बाद भी मृतिका के ससुराल वालों के खिलाफ पुलिस ने गिरफ्तारी की कार्रवाई नहीं की है। बुजुर्ग का कहना है कि सिर्फ पति नजरूद्दीन को पकड़कर मामले को रफा-दफा किया जा रहा है। बुजुर्ग का दावा है कि बेटी की गला दबाकर हत्या के बाद ससुराल वालों ने फांसी लगाकर खुदकुशी करने की झूठी कहानी सुनाई है।

पुलिस ने तब घर जाकर जांच की थी।
पुलिस ने तब घर जाकर जांच की थी।

इस मामले में उरला पुलिस के मुताबिक घटना की जांच में ये पाया गया कि मृतिका गुड़िया को ससुराल वालों ने परेशान किया, जिसके चलते उसने अपने कमरे में फांसी लगा ली थी। इस प्रकरण में अब तक हत्या के साक्ष्य नहीं मिले हैं। तथ्यों के आधार पर FIR दर्ज कर युवती के पति को पकड़ा गया है। प्रकरण में जांच जारी है। अन्य आरोपियों की भी गिरफ्तारी की जा सकती है। जांच में अब तक सामने आए तथ्यों के मुताबिक मृतिका की उम्र 21 साल थी। 2 जुलाई 2018 में उसकी शादी रायपुर के नजरूद्दीन से हुई। डेढ़ साल पहले युवती ने एक बच्ची को जन्म दिया था, इसके जन्म के बाद से ससुराल वाले उसे बेटी पैदा करने का ताना दिया करते थे।

खबरें और भी हैं...