इंजीनियरिंग कॉलेजों की 3818 सीटें आवंटित:लिस्ट भी जारी कर दी; गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज की सभी सीटें बटी, प्राइवेट में खाली

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शिक्षा सत्र 2021-22 के तहत इंजीनियरिंग में दाखिले के लिए आबंटन लिस्ट जारी की गई है। गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज की सभी सीटें बांटी गई है। जबकि प्राइवेट कॉलेज की अधिकांश सीटें खाली रह गई। इंजीनियरिंग की 11381 सीटों में से 3818 सीटें बांटी गई। जबकि फार्मेसी की 5933 सीटों में से 4667 सीटें बांटी गई।

जिन छात्रों को सीटें मिली है उन्हें 20 अक्टूबर तक प्रवेश लेना होगा। 21 को पता चलेगा कि बांटी गई सीटों में से कितने छात्रों ने प्रवेश लिया। राज्य में इंजीनियरिंग की पढ़ाई 33 कॉलेजों में हो रही है। इन कॉलेजों में इंजीनियरिंग की 11381 सीटें हैं। इसमें से रायपुर, बिलासपुर व जगदलपुर के शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज में 852 सीटें हैं। यहां की सभी सीटें आबंटित कर दी गई। जबकि प्राइवेट कॉलेज में सीटें शुरुआत से ही खाली है। इंजीनियरिंग की काउंसिलिंग के लिए 4101 छात्रों ने आवेदन किया था। इसमें से 3818 छात्रों को सीटें बांटी गई। पिछले साल भी इंजीनियरिंग की बड़ी संख्या में सीटें खाली थी। गौरतलब है कि राज्य में रायपुर, बिलासपुर व जगदलपुर में 3 शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज हैं। इसके अलावा एक संस्थान, सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग, एक तकनीकी विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग और एक विश्वविद्यालय इंजीनियरिंग कॉलेज अंबिकापुर है। जबकि 27 प्राइवेट कॉलेज हैं।

फार्मेसी की 4667 सीटें अलाट
इंजीनियरिंग के अलावा तकनीकी शिक्षा संचालनालय से बी.फार्मेसी और डी. फार्मेसी की सीटें आबंटित क ी गई। राज्य के कॉलेजों में बी.फार्मेसी व डी.फार्मेसी की 5933 सीटें हैं। पिछले दिनों हुई फार्मेसी की प्रवेश परीक्षा में 19845 परीक्षार्थी शामिल हुए। लेकिन फार्मेसी की काउंसिलिंग के लिए 5395 छात्रों ने आवेदन किया था। इसमें से 4667 छात्रों को सीटें बांटी गई। इस तरह से देखा जाए तो यदि बांटी गई सभी सीटों में भी छात्रों ने प्रवेश ले लिया तब भी फार्मेसी की 1266 सीटें खाली रहेगी। जिन्हें सीटें दी गई है उन्हें 20 अक्टूबर तक प्रवेश लेना होगा। 21 अक्टूबर को खाली सीटों की जानकारी सामने आएगी।

खबरें और भी हैं...