पीपरछेड़ी समिति प्रबंधक निलंबित:मुनादी करा सभी किसानों को एक साथ बुलाया था; धान खरीदी केंद्र में भगदड़ में कुचल गई थीं 17 महिलाएं

रायपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भगदड़ की सूचना के बाद पीपरछेड़ी केंद्र पर पहुंचे कलेक्टर और एसपी ने घटना की जांच की। - Dainik Bhaskar
भगदड़ की सूचना के बाद पीपरछेड़ी केंद्र पर पहुंचे कलेक्टर और एसपी ने घटना की जांच की।

बालोद जिले के सेवा सहकारी समिति पीपरछेड़ी के समिति के प्रबंधक यशवंत कुमार साहू को निलंबित कर दिया गया है। जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक दुर्ग के मुख्य कार्य पालन अधिकारी ने सोमवार देर शाम निलंबन आदेश जारी किया। समिति प्रबंधक यशवंत कुमार साहू पर धान खरीदी के लिए किसानों के टोकन वितरण की व्यवस्था में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

अधिकारियों का कहना है, एक दिसम्बर से सहकारी समितियां एवं उपार्जन केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी होनी है। व्यवस्था के सुचारू संचालन के लिए शासन द्वारा किसानों को नियमानुसार टोकन देने का निर्देश दिया गया है। टोकन वितरण का यह कार्य समितियों के धान उपार्जन की प्रतिदिन की क्षमता के मान से दिए जाने का निर्देश है। आरोप है, समिति प्रबंधक पीपरछेड़ी यशवंत कुमार साहू ने उस निर्देश के पालन में लापरवाही बरती गई। प्रबंधक द्वारा 29 नवम्बर 2021 को पीपरछेड़ी समिति से जुड़े सभी गांवों में मुनादी कर टोकन के लिए किसानों को बुला लिया। इसकी वजह से समिति में भीड़ उमड़ पड़ी। ऐसे में वहां अव्यवस्था और भगदड़ की स्थिति बनी।

कलेक्टर और एसपी भी पहुंचे

पीपरछेड़ी केंद्र में भगदड़ की सूचना मिलने के बाद प्रशासन सक्रिय हुआ। बालोद कलेक्टर जनमेजय महोबे और पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार वहां पहुंचे। उन्होंने समिति में धान खरीदी की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कलेक्टर ने बताया कि समिति में अव्यवस्थित भीड़ के दौरान घायल ग्रामीणों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है। सभी की स्थिति सामान्य है।

खबरें और भी हैं...