18+ को करना होगा इंतजार:छत्तीसगढ़ सरकार के आर्डर पर कंपनी की ओर से कोई जवाब नहीं आया, मुख्यमंत्री बोले 29-30 अप्रैल तक भी आ गई वैक्सीन तो एक मई से शुरू हो जाएगा अभियान

रायपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मीडिया के साथ चर्चा में कोरोना की रोकथाम और इलाज के लिए की जा रही कोशिशों की जानकारी दी। लोगों का डर दूर करने को भी कहा। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मीडिया के साथ चर्चा में कोरोना की रोकथाम और इलाज के लिए की जा रही कोशिशों की जानकारी दी। लोगों का डर दूर करने को भी कहा।

छत्तीसगढ़ में 18 से 45 वर्ष की आयु वाले लोगों को कोरोना की वैक्सीन के लिए अभी इंतजार करना पड़ सकता है। इस आयु समूह के लिए टीकाकरण अभियान एक मई से शुरू होना है। राज्य सरकार ने सोमवार को टीके की 50 लाख खुराक का आर्डर दिया है। लेकिन कोरोना वैक्सीन की दोनों उत्पादक कंपनियों की ओर से आपूर्ति के संबंध में कोई जवाब नहीं आया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीडिया कर्मियों से चर्चा में कहा, उन्होंने वैक्सीन के मूल्य और उपलब्धता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को पत्र लिखा है। अभी तक उसका कोई जवाब नहीं आया। भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट से भी कोई जवाब नहीं मिला है। उन्होंने कहा, राज्य सरकार के पास इस चरण के लिए वैक्सीन का स्टॉक नहीं है। अगर उन्हें 29-30 अप्रैल तक भी वैक्सीन मिल जाए तो एक मई से टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, छत्तीसगढ़ कोरोना वैक्सीनेशन के मामले में देश के कई विकसित और साधन सम्पन्न राज्यों को पीछे छोड़ चुका है। अभी वैक्सीन के 53 लाख से ज्यादा डोज लग चुके हैं। आगामी 1 मई से हम एक नया इतिहास रचने जा रहे हैं। इसके तहत प्रदेश के 18 वर्ष से लेकर 44 वर्ष तक के लोगों को मुफ्त में कोरोना की वैक्सीन लगाएंगे। इसके लिए व्यापक कार्ययोजना तैयार कर ली गई है।

स्वास्थ्य मंत्री बोले, मई में संभव नहीं दिख रहा है अभियान

दैनिक भास्कर से बातचीत में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा, केंद्र सरकार ने पूरे टीकाकरण अभियान काे उलझा दिया है। अभी कंपनियों में जितनी वैक्सीन का उत्पादन हो रहा है, उसको देखते हुए मई में 18 वर्ष से 45 वर्ष आयु तक के नागरिकों के लिए टीकाकरण अभियान मुश्किल दिख रहा है। सिंहदेव ने कहा, वैक्सीन की आपूर्ति जून-जुलाई में ही संभव दिख रही है। हमने अपने स्तर की तैयारी पूरी कर ली है। सरकार लगातार उत्पादक कंपनियों और केंद्र सरकार के साथ संपर्क बनाए हुए हैं। वैक्सीन मिलते ही अभियान शुरू हो जाएगा।

यहां 1.20 करोड़ को लगना है टीका

कोरोना टीकाकरण के तीसरे चरण में छत्तीसगढ़ अनुमानत: 1.20 करोड़ लोगों टीका लगाने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए जिलों में टीका लगाने वाले नर्सिंग स्टाफ कर प्रशिक्षण चल रहा है। यह अभियान स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंट लाइन वर्कर और बुजुर्गों के साथ ही चलेगा। इस चरण में अभियान का पूरा खर्च राज्य सरकार को उठाना है। अनुमान है कि इस पर एक हजार करोड़ रुपए का खर्च आएगा।

खबरें और भी हैं...