छत्तीसगढ़ में ओमिक्रॉन का खतरा:यूएसए, जर्मनी और यूएई से लौटे तीन यात्री संक्रमित, तीनों सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भुवनेश्वर भेजे गए

रायपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देशभर में ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच प्रदेश में विदेश से लौटे 3 यात्री कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें दो बिलासपुर और एक दुर्ग के रहने वाले हैं। वे जर्मनी, यूएसए और यूएई से लौटे हैं। उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद तीनों के सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भुवनेश्वर की लैब भेज दिया गया है। इसकी रिपोर्ट हफ्तेभर में मिलने की संभावना है।

इसके पहले विदेश से बिलासपुर लौटे 2 यात्री पॉजिटिव निकल चुके हैं। दोनों की जीनोम सीक्वेंसिंग रिपोर्ट नेगेटिव निकली है। इधर, मंगलवार को राजधानी में 3 समेत प्रदेश में 20 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। प्रदेश में 27 नवंबर से अब तक 1000 से ज्यादा लोग विदेश से लौटे हैं। इनमें से अब तक 5 कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं।

विदेश से लौटने वाले सभी यात्रियों को निगरानी में रखकर उनकी जांच करवाई जा रही है। अफसरों के अनुसार जैसे-जैसे विदेश से लौटने वालों की सूचना दिल्ली से मिल रही है, आने वाले यात्रियों की जांच कर उन्हें क्वारैंटाइन करवाया जा रहा है।

ऐसे यात्री जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है, उनके सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजने के साथ उनके संपर्क में आने वालों की भी जांच कर उन्हें आईसोलेट करने के निर्देश दिए जा रहे हैं। विदेश से आने वालों की सूचना छिपाने वालों के सूचना छिपाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई शुरू कर दी गई है। बिलासपुर में सूचना छिपाए जाने के कारण स्वास्थ्य विभाग महामारी एक्ट के तहत 3 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।

राज्य महामारी नियंत्रण के डायरेक्टर डॉ. सुभाष मिश्रा व एक निजी अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. देवेंद्र नायक ने बताया कि फिलहाल इक्के-दुक्के केस ही अस्पताल आ रहे हैं। इनमें से ज्यादातर गंभीर नहीं रहते है। उन्हें पहले से दूसरी बीमारियां है इसलिए उनकी स्वास्थ्य से संबंधित दिक्कतें बढ़ रही है। विदेश से लौटने वालों से आग्रह किया जा रहा है कि आने के बाद वे खुद ही विभाग को सभी जरूरी जानकारी दें।