• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Today Bhupesh Baghel And UP Government Will Be Face To Face Again; Preparations For The Chief Ministers Of Chhattisgarh And Punjab To Go To Lakhimpur With Rahul Gandhi

हठयोग के सामने झुकी योगी सरकार:राहुल गांधी के साथ सीतापुर पहुंच गए हैं CM भूपेश बघेल और चरणजीत सिंह चन्नी, प्रियंका गांधी से मुलाकात के बाद लखीमपुर खीरी पहुंचे

रायपुर2 महीने पहले
लखनऊ एयरपोर्ट पर राहुल गांधी के साथ छत्तीसगढ़ और पंजाब के मुख्यमंत्री।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस नेतृत्व के हठयोग के सामने आखिरकार उत्तर प्रदेश की योगी सरकार झुक गई है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के CM चरणजीत सिंह चन्नी वाले प्रतिनिधि मंडल को लखीमपुर खीरी पहुंच गए। राहुल गांधी का काफिला शाम को सीतापुर पहुंचा। वहां सभी ने पीएसी गेस्ट हाउस में प्रियंका गांधी से मुलाकात की है। उन्हें साथ में लेकर राहुल गांधी का काफिला लखीमपुर खीरी पहुंचा। राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, भूपेश बघेल और चरणजीत सिंह चन्नी एक ही कार में सवार हुए थे।

हवाई अड्‌डे जाने से पहले राहुल गांधी ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा, वे एक छोटे प्रतिनिधिमंडल के साथ लखीमपुर खीरी जाना चाहते हैं। उनका कहना था, वहां से अभी तक सही तथ्य निकलकर नहीं आ पाए हैं, जिनका सामने आना जरूरी है। उनकी योजना हिंसा में मारे गए किसानों के परिजनों से मुलाकात करने की है। उनके साथ पार्टी के चार वरिष्ठ नेता भी लखीमपुर जाएंगे। AICC (अखिल भारतीय कांग्रेस समिति) की ओर से पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर प्रतिनिधिमंडल के लिए बाकायदा अनुमति मांगी थी।

पुलिस की गाड़ी से जाने से इनकार कर राहुल गांधी, भूपेश बघेल, चरणजीत सिंह चन्नी और केसी वेणुगोपाल हवाई अड्‌डे के भीतर ही धरने पर बैठ गए थे।
पुलिस की गाड़ी से जाने से इनकार कर राहुल गांधी, भूपेश बघेल, चरणजीत सिंह चन्नी और केसी वेणुगोपाल हवाई अड्‌डे के भीतर ही धरने पर बैठ गए थे।

लखनऊ हवाई अड्‌डे के भीतर वरिष्ठ अधिकारी राहुल गांधी के साथ रूट को लेकर काफी देर तक चर्चा करते रहे। पुलिस अधिकारी राहुल गांधी और दोनों मुख्यमंत्रियों को पुलिस की गाड़ी से लखीमपुर ले जाना चाहते थे। इसकी वजह से विवाद की स्थिति बनी। राहुल गांधी ने पुलिस की गाड़ी से जाने से इन्कार कर दिया। उसके बाद सभी लोग हवाई अड्‌डे के भीतर ही धरना देकर बैठ गए। बाद में सरकार झुकी। कांग्रेस नेताओं को उनकी गाड़ी से लखीमपुर जाने की अनुमति दे दी गई। उसके बाद राहुल गांधी, भूपेश बघेल और चरणजीत सिंह चन्नी आदि हवाई अड्‌डे से बाहर निकले। हवाई अड्‌डे के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ भी उनके साथ हो लिए। शाम को 5 - 5.25 बजे के बीच राहुल गांधी का काफिला सीतापुर पीएसी गेस्ट हाउस पहुंचा। वहां प्रियंका गांधी से उन लोगों की मुलाकात हुई। थोड़ी देर रुकने के बाद उनका काफिला लखीमपुर पहुंचा।

लखनऊ हवाई अड्‌डे के बाहर सुबह से ही पुलिस बल की तैनाती की गई थी।
लखनऊ हवाई अड्‌डे के बाहर सुबह से ही पुलिस बल की तैनाती की गई थी।

उत्तर प्रदेश सरकार ने पहले नहीं दी थी अनुमति
इधर उत्तर प्रदेश सरकार ने कांग्रेस नेताओं और दोनों मुख्यमंत्रियों को वहां आने की अनुमति नहीं दी है। इसके लिए सीतापुर और लखीमपुर खीरी में धारा-144 और कानून व्यवस्था बिगड़ने का खतरा बताया जा रहा है। लखनऊ हवाई अड्‌डे पर जिला पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों को तैनात कर दिया गया था। कुछ और वरिष्ठ अधिकारी वहां बाद में पहुंचे। थोड़ी देर पहले उत्तर प्रदेश के ADG कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया, प्रतिनिधिमंडल को लखीमपुर जाने की अनुमति दे दी गई है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंगलवार को तीन घंटे तक धरने पर बैठे रहे।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंगलवार को तीन घंटे तक धरने पर बैठे रहे।

मंगलवार को हवाई अड्‌डे पर धरना देकर लौटे भूपेश
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार को भी लखनऊ और फिर सीतापुर जाने की कोशिश में थे। वे दोपहर बाद लखनऊ पहुंच गए, लेकिन UP सरकार ने उन्हें हवाई अड्‌डे से बाहर नहीं निकलने दिया। भूपेश बघेल ने तीन घंटे फर्श पर बैठकर धरना दिया। वहीं से जूम के जरिए प्रेस कॉन्फ्रेंस की। शाम को वे लखनऊ से दिल्ली लौट गए। मुख्यमंत्री सोमवार को विशेष विमान से लखनऊ जाने वाले थे, लेकिन UP सरकार के कहने पर एयरपोर्ट अथॉरिटी ने उनके प्लेन को उतरने की अनुमति नहीं दी।

UP सरकार ने बघेल को लौटाया:छग CM ने 3 घंटे तक एयरपोर्ट पर धरना दिया, गिरफ्तारी की चुनौती भी दी; नहीं माने अफसर, वापस दिल्ली गए

छग CM धरने पर!:पुलिस ने लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका तो विरोध में बैठे बघेल, यूपी कांग्रेस कार्यालय में नेताओं संग बैठक के लिए पहुंचे थे

खबरें और भी हैं...