जायजा:एयरपोर्ट पर की माॅकड्रिल तैयारियाें का जायजा लिया

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एयरपोर्ट के सुरक्षा अफसरों को बुधवार की दोपहर अचानक खबर मिली कि रनवे में खड़े विमान में आग लग गई है। तुरंत टीम के साथ मौके पर पहुंचे। विमान में मौजूद सभी लोगों की जान बचानी है। और देखते ही देखते सीआईएसएफ, स्वास्थ्य, एटीसी, पुलिस के अलावा संबंधित सभी विभागों की टीम रनवे के पास पहुंच गई। पांच मिनट के भीतर ही एयरपोर्ट फायर स्टेशन में आग बुझाने वाली गाड़ियां भी आ गई। रनवे पर पानी की बौछारें शुरू हो गई।

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने स्ट्रेचर खोले और उसमें विमान से बाहर निकाले गए लोगों को लिटाकर एंबुलेंस तक पहुंचाने का काम शुरू कर दिया गया। इस काम को दूर से देख रहे एयरपोर्ट में मौजूद हवाई यात्री परेशान थे कि आखिर एयरपोर्ट के रनवे से कुछ दूरी पर ये क्या हो रहा है। कई यात्रियों को लगा कुछ लोगों की तबियत खराब है तो कुछ को लगा कि रनवे की इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम में कुछ खराबी आ गई है।

लेकिन थोड़ी देर बाद इस मॉक ड्रिल की घोषणा से वहां मौजूद सभी लोगों ने ने राहत की सांस ली। एयरपोर्ट डायरेक्टर राकेश आर सहाय ने बताया कि एयरपोर्ट में किसी भी तरह की आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए किस तरह के इंतजाम हैं और कितनी देर में सिचुएशन को कंट्रोल किया जा सकता है, इसकी जांच के लिए सभी विभागों के समन्वय से मॉक ड्रिल किया गया।

इसमें पता चला कि इमरजेंसी के दौरान एयरपोर्ट प्रबंधन किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह सक्षम है। लोगों तक कुछ मिनटों में ही सभी तरह की मदद पहुंचाई जा सकती है। इस मॉक ड्रिल में एयरपोर्ट फायर सर्विस, एयर ट्रैफिक कंट्रोल, एयरपोर्ट ऑपरेशन सिक्यूरिटी, इंजीनियरर्स, सीएनएस, बीसीएएस, सीआईएसएफ, इंडिगो एयरलाइंस, एनएचएमएमआई और सिटी फायर बिग्रेड के अफसर और कर्मचारी शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...