अवैध कब्जा के खिलाफ बड़ा अभियान:बस टर्मिनल से चांदनी चौक के बीच बढ़ा ट्रैफिक, अवैध कब्जे हटाए गए

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भाठागांव बस टर्मिनल से बसों का संचालन शुरू होते ही चांदनी चौक से बस टर्मिनल वाली रोड पर ट्रैफिक अचानक बढ़ गया है। इस रोड में आटो-टैक्सी भी पहले की तुलना में दोगुने चल रहे हैं। रेलवे स्टेशन तथा आसपास के घने इलाके से लोग कालीबाड़ी, टिकरापारा, पुलिस लाइन गेट के सामने से चांदनी चौक होकर टर्मिनल तक पहुंच रहे हैं। इस वजह से ट्रैफिक का दबाव बढ़ गया है।

बस अड्‌डा शुरू होने के बाद सड़क पर ठेले-खोमचे और अस्थायी दुकानें सजनें लगी हैं। इससे भी लोगों को दिक्कतें आने लगी हैं। इसी दिक्कत को देखते हुए बुधवार को इस सड़क से अवैध कब्जे हटाए गए। 16 नवंबर से भाठागांव बस टर्मिनल से बसों का संचालन हो रहा है। बसें शहर के भीतर नहीं आ रही हैं। रिंग रोड से ही सभी बसों आउटर होकर अलग-अलग दिशाओं में जा रही हैं।

शहर के ज्यादातर लोग भाठागांव टर्मिनल पहुंचने के लिए नेहरुनगर चांदनी चौक वाली सड़क का उपयोग कर रह हैं, क्योंकि यही सीधी सड़क टर्मिनल तक जाती है। यहां से टर्मिनल पहुंचना आसान है। ये सड़क रेसिडेंशियल इलाके से गुजरती है। इस वजह से यहां पहले से खासा ट्रैफिक रहता है। सड़क चौड़ी होने के कारण कई दुकानें खुल गईं हैं। लोगों ने घरों और दुकानों के आगे सड़क तक कब्जा कर लिया है।

ट्रैफिक को सरल करने बुधवार को नगर निगम जोन-4 और 6 ने पूरी रोड के अवैध कब्जों के खिलाफ बड़ा अभियान चलाया। जेसीबी, थ्रीडी मशीन और पुलिस बल के साथ पहुंचे निगम अमले ने लोगों को अपने सामान हटाने के निर्देश दिए। कुछ देर की मोहलत देने के बाद निगम अमले ने तोड़फोड़ शुरू कर दी। इस दौरान सड़क के किनारे बनाए गए शेड इत्यादि हटाए गए। अस्थायी शेड के अलावा ठेले-गुमटी इत्यादि मिलाकर 100 से ज्यादा अवैध कब्जे हटाए गए। दुकानदारों को चेतावनी दी गई कि दोबारा कब्जा कर सड़क घेरने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

चौड़ीककरण का प्रस्ताव
बसों का संचालन शुरू होने के बाद इस रोड के चौड़ीकरण का प्रस्ताव निगम ने तैयार किया है। अभी यह सड़क 20 से 25 फीट चौड़ी है। पुरानी बसाहट होने के कारण यहां पर सड़क कहीं संकरी है तो कहीं चौड़ी। निगम अफसरों के अनुसार सड़क की चौड़ाई बढ़ाने के लिए निगम यहां अधिक तोड़फोड़ नहीं करेगा। जहां निगम को सरकारी जमीन मिलेगी, वहां पर चौड़ाई उसी के अनुसार बढ़ायी जाएगी। निगम यहां पर तोड़फोड़ कर लोगों प्रभावित करने के पक्ष में नहीं है क्योंकि मकान टूटने पर उनके व्यवस्थापन या मुआवजे की दिक्कत आएगी। इसलिए करीब डेढ़ किमी की इस सड़क पर निगम ने चौड़ीकरण और वाहनों के आने-जाने लायक रोड तैयार करने में करीब 9.61 करोड़ रुपए का बजट तैयार किया है।
-

खबरें और भी हैं...