वैक्सीनेशन अभियान:वैक्सीनेशन आज नहीं हाेगा, 10 महीने बाद मिलेगी मेडिकल स्टाफ को छुट्‌टी

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दशहरा त्योहार के दिन राजधानी रायपुर समेत प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना वैक्सीनेशन नहीं होगा। दरअसल, प्रमुख त्योहारों के चलते स्वास्थ्य विभाग ने टीकाकरण में जुटे अमले के लिए ये व्यवस्था बनाई है। 16 जनवरी से प्रदेश में लगातार टीकाकरण चल रहा है, जिसके कारण वैक्सीनेशन कर रहे कई कर्मचारी अधिकारियों को बीते 10 माह से छुट्टियां नहीं मिल पा रही है।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक दिवाली, गोवर्धन पूजा, भाई दूज मातर पूजन के दिन भी प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन नहीं होगा। इस बीच, गुरुवार को रायपुर शहर समेत पूरे जिले के 140 टीकाकरण केंद्रों पर 4103 टीके ही लग पाए। रायपुर जिले में बीते पांच दिन से सीरिंज की किल्लत चल रही है। इसके चलते टीके उस गति नहीं लग पा रहे हैं। बुधवार को 2 लाख सीरिंज प्रदेश में आ गई है। जिसका वितरण अब दशहरा त्योहार के बाद होगा।

23 लाख टीके लग चुके
जिले में अब तक सिंगल और डबल डोज मिलाकर कुल 23 लाख से अधिक टीके लग चुके हैं। वहीं रायपुर अब सौ फीसदी सिंगल डोज से केवल 56 हजार टीके ही पीछे रह गया है। त्योहार के बाद एक बार फिर सेंटर बढ़ाए जाएंगे। फिलहाल 140 से अधिक केंद्रों पर टीके लग रहे हैं। सीरिंज और टीके का पर्याप्त स्टाक रहा तो शनिवार से एक बार फिर 250 से अधिक केंद्रों पर टीके लगाने का प्लान भी है।

एक टीकाकरण केंद्र पर वैक्सीनेटर और डेटा एंट्री आपरेटर मिलाकर 5 से अधिक का स्टाफ रहता है। इस लिहाज से देखें तो केवल रायपुर में ही डेढ़ से दो हजार से अधिक स्टाफ वैक्सीनेशन का काम कर रहा है। सितंबर के महीने में राजधानी समेत पूरे जिले में वैक्सीनेशन काफी तेज गति से चला, एक वक्त में 20 हजार के औसत तक से टीके रोज लगाए जा रहे थे। लेकिन कुछ दिनों से इसमें गिरावट देखी जा रही है। त्योहार के कारण कोरोना जांच और टीका दोनों ही घटा है।

खबरें और भी हैं...