• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Vaccine Shortage In Chhattisgarh; Due To Lack Of Corona Vaccines, Only Second Dose Was Being Taken In Raipur, From Today That Vaccination Also Stopped

रायपुर में वैक्सीनेशन बंद:दूसरा डोज लग रहा था, आज से वह भी नहीं होगा, पूरे राज्य में कोरोना टीके की किल्लत; सरकार ने एक करोड़ मांगी थी केंद्र ने ढाई लाख ही दी

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा, हमारी क्षमता एक दिन में चार लाख लोगों को टीका लगा लेने की है। देश में टीकों का जरूरत के मुताबिक उत्पादन ही नहीं हो पा रहा है। - Dainik Bhaskar
स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा, हमारी क्षमता एक दिन में चार लाख लोगों को टीका लगा लेने की है। देश में टीकों का जरूरत के मुताबिक उत्पादन ही नहीं हो पा रहा है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना टीकाकरण अभियान टीकों की भारी किल्लत से जूझ रहा है। प्रदेश के बाद करीब 70 हजार टीके ही बचे हुए हैं। रायपुर जिले में पिछले दो दिनों से टीके का केवल का दूसरा डोज लगाया जा रहा था। आज से उसे भी बंद करने की घोषणा हो गई है। अब टीके की नई खेप मिलने के बाद ही टीकाकरण शुरू होगा।

रायपुर जिला प्रशासन की ओर से कहा गया, कोरोना वैक्सीन अनुपलब्ध होने के कारण सभी टीकाकरण केंद्र आगामी आदेश तक बंद रहेंगें। बिलासपुर जिले में भी वैक्सीन खत्म हो चुकी है। सोमवार को टीकों की किल्लत की वजह से कई केंद्रों पर विवाद की स्थिति बनी। बताया जा रहा है कि 21 जून को जब टीकाकरण का नया चरण शुरू हुआ तो केंद्र और राज्य सरकार की खरीदी वैक्सीन मिलाकर 21 लाख डोज मौजूद था। इसके शुरुआती 10 दिनों में रेकॉर्ड टीकाकरण हुआ। 26 जून को तो प्रदेश में 4 हजार 592 टीकाकरण केंद्रों पर 3 लाख 50 हजार 492 लोगों को टीका लगाया गया। रायगढ़ जिले में तो उस दिन एक लाख 22 हजार से अधिक लोगों को टीका लगा दिया गया। उसके बाद कई जिलों में टीकों की किल्लत हो गई थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर जुलाई महीने के लिए एक करोड़ डोज वैक्सीन की मांग की। हालांकि बाद में करीब ढाई लाख डोज वैक्सीन पहुंची। इससे टीकाकरण अभियान दो दिन और खिंच गया। शुक्रवार को रायपुर जिला प्रशासन ने कह दिया कि उनके पास वैक्सीन नहीं बची है। अब वे सीमित केंद्रों पर केवल उनको टीका लगाएंगे जिनकी दूसरी डोज की तारीख आ गई है। सोमवार रात को कह दिया गया कि अब अगली खेप आने तक टीकाकरण बंद रहेगा।

सोमवार को 90 हजार टीके लगे

कोविन पोर्टल के मुताबिक सोमवार को 2611 केंद्रों पर टीकाकरण हुआ। रात तक 90 हजार 405 लोगों को टीका लगाया गया था। प्रदेश में एक करोड़ से अधिक लोगों को कम से कम एक टीका लगाया जा चुका है। प्रदेश की कुल आबादी करीब दो करोड़ 85 लाख है।

स्वास्थ्य मंत्री बोले, टीकों का उत्पादन ही नहीं

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा, हमारी क्षमता एक दिन में चार लाख लोगों को टीका लगा लेने की है। देश में टीकों का जरूरत के मुताबिक उत्पादन ही नहीं हो पा रहा है। केंद्र सरकार पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं करा पा रही है। ऐसे में लगातार किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया, 10 जुलाई तक टीके की एक खेप मिलने की सूचना मिली है। उसमें कितनी वैक्सीन होगी अभी यह तय नहीं है।

कोविन पर पंजीयन करा लेने की सलाह

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा है, जिन व्यक्तियों ने अभी तक वैक्सीन नही लगवाया है, वे कोविड-19 वैक्सीन के लिए www.cowin.gov.in पोर्टल में अपने मोबाइल नंबर से रजिस्ट्रेशन अवश्य करा लें। वैक्सीन उपलब्ध होने पर पहले से पंजीकृत व्यक्तियों को सामान्य प्राथमिकता दी जाएगी। ऐसे लोगों को टीकाकरण केंद्र में रजिस्ट्रेशन के लिए इंतजार नही करना पड़ेगा।

वैक्सीनेशन पर ब्रेक:छत्तीसगढ़ को जुलाई में चाहिए कोरोना टीके के सवा करोड़ डोज, केंद्र से 20 लाख ही कन्फर्म; अब सप्ताह में चार दिन ही टीकाकरण की योजना

खबरें और भी हैं...