एटीएम मशीन में चोरी की कोशिश:एटीएम खोलकर कैश बाक्स उड़ाने वाला था कि पुलिस पहुंच गई, वहीं पकड़ा गया

रायपुर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राजधानी के आउटर मंदिरहसौद इलाके में बुधवार की रात एटीएम मशीन का कैश बाक्स खोलकर चोरी की कोशिश करने वाला बदमाश स्पॉट पर ही पकड़ा गया। पुलिस के पहुंचने के पहले चोर एटीएम का सामने वाला हिस्सा खोल चुका था। वह कैश बाक्स तक पहुंचने वाला था, तभी पुलिस की गश्ती टीम वहां पहुंच गई। उसके पास मशीन खोलने के ऐसे औजार थे कि उसने अलार्म का कनेक्शन तक काट दिया था।

इस वजह से एटीएम से छेड़खानी होने के बावजूद अलार्म नहीं बजा। पुलिस के अफसर एटीएम में चोरी करते पकड़े गए बदमाश प्रीतम कुशवाहा से पूछताछ कर रहे हैं। आरोपी मप्र सागर का रहने वाला है। पुलिस अफसरों के अनुसार वह एटीएम में सेंध लगाने ही यहां आया है। पुलिस ने सागर पुलिस को घटना की सूचना देकर आरोपी का रिकार्ड मांगा है। पता लगाया जा रहा है कि उसने पूर्व में कहीं एटीएम में सेंधमारी तो नहीं की है। पुलिस अफसरों के अनुसार बुधवार को आधी रात करीब 1 बजे प्रीतम पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम पहुंचा।

शहर का आउटर होने के कारण वहां रात में सन्नाटा छाया हुआ था। ठंड का सीजन होने के कारण भी वाहनों की आवाजाही भी लगभग बंद थी। इसी का फायदा उठाकर उसने चोरी की कोशिश की। उसके पास मशीन खोलने के कई औजार मिले हैं। प्रीतम ने उन्हीं औजारों की मदद से बड़ी आसानी से एटीएम के सामने वाले हिस्से को खोल लिया था। वह कैश बाक्स वाले पार्टस को खोल रहा था, उसी दौरान सड़क से पुलिस की गश्ती टीम वहां से गुजरी। पुलिस जवानों को दूर से ही एटीएम में चोर नजर आया।

हालांकि उन्हें ऐसा आभास हुआ जैसे वह ग्राहक है और से निकालने आया है। इतनी रात को वह क्यों पैसे निकाल रहा है? इससे पुलिस जवानों को आशंका हुई। पुलिस की टीम एटीएम के पास पहुंची। उसे आवाज देकर बाहर बुलाया गया। बाहर आने के बाद जब जवानों ने उससे पूछा कि यहां क्या कर रहे हो? तब उसने उन्हें गुमराह करने की कोशिश की और कहा कि वह पैसे निकालने आया है। जवानों ने एटीएम दिखाने को कहा तो वह घबरा गया। उसने तुरंत अपनी बात बदली और कहा कि वह एटीएम को देख रहा था। इस जवाब को सुनकर पुलिस अफसरों का शक यकीन में बदल गया।

उन्होंने उसे घेरे में लिया और भीतर गए। एटीएम सेंटर के भीतर पहुंचते ही जवान समझ गए कि वह चोरी करने आया है। मशीन का सामने वाला हिस्सा खुला हुआ था। तुरंत उसे गिरफ्त में लेकर उसके सामान की जांच की गई। उसके पास मशीन खोलने के कई औजार मिले। एटीएम सेंटर के भीतर भी औजार मिले। पुलिस टीम को देखकर उसने औजार मशीन के पीछे छिपा दिए थे। चोरी नाकाम होने के बाद एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने मंदिरहसौद थाने में पदस्थ प्रधान आरक्षक धर्मेन्द्र कुमार वर्मा, आरक्षक देवेन्द्र माधुरी एवं निर्मल सुल्तान को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इसी तरह मंदिरहसौद बस स्टैंड के पीछे स्थित गायत्री ज्वेलर्स में चोरी करने वाले चोरों स्पॉट पर ही पकड़ने वाले एसआई अनिल गंधर्व, आरक्षक भूपेन्द्र कुमार खुंटे, राकेश साहू और राकेश हिरवानी को भी प्रशस्ति पत्र दिया गया।

खबरें और भी हैं...