पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Weather Update; Dense Clouds Are Over The Whole State, 20 Districts Including Raipur Bilaspur Have Moderate To Heavy Rain With Thunder And Lightning

छत्तीसगढ़ में मानसून की झमाझम:पूरे प्रदेश पर छाए घने बादल, रायपुर-बिलासपुर समेत 20 जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश; रात 11 बजे तक की चेतावनी

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
देर शाम रायपुर में बादलों की गड़गड़ाहट और बिजली की तेज चमक के बीच बरसात शुरू हो गई। - Dainik Bhaskar
देर शाम रायपुर में बादलों की गड़गड़ाहट और बिजली की तेज चमक के बीच बरसात शुरू हो गई।

छत्तीसगढ़ में समय से पहले आया मानसून अभी मेहरबान दिख रहा है। आज शाम 7 बजे तक पूरे प्रदेश में पर बादल छा चुके थे। रायपुर में देर शाम भारी बरसात हुई। मौसम विभाग ने रायपुर-बिलासपुर सहित 20 जिलों में गरज-चमक के साथ मध्यम से भारी बरसात की सूचना दी है।

रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र ने शाम 6.30 बजे के त्वरित पूर्वानुमान बुलेटिन में बताया कि अगले चार घंटों में 20 जिलों में मध्यम से भारी बरसात हो सकती है। बिजली गिरने की भी संभावना जताई गई। रायपुर में भारी बरसात की वजह से सड़कों पर दिखना बंद हो गया था। मौसम विभाग के मुताबिक रायपुर में 8.30 बजे तक 41 मिलीमीटर तक बरसात हो चुकी थी।

जिन जिलों के लिए मौसम विभाग ने पूर्वानुमान बताया था उनमें जशपुर, कोरबा, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही, बिलासपुर, मुंगेली, जांजगीर-चांपा, रायगढ़, कबीरधाम, बेमेतरा, बलौदा बाजार, राजनांदगांव, दुर्ग, रायपुर, महासमुंद, कोण्डागांव, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, बस्तर, सुकमा और उनके लगे जिले शामिल थे। सोमवार शाम को भी रायपुर में भारी बरसात हुई थी। उस दिन एक घंटे के भीतर रायपुर शहर में 75 मिलीमीटर से अधिक बरसात हो गई थी। माना हवाई अड्‌डे की तरफ और नवा रायपुर क्षेत्र में भी तेज बरसात थी।

रायपुर में बरसात के दौरान बिजली से आसमान में तेज रोशनी हो रही थी।
रायपुर में बरसात के दौरान बिजली से आसमान में तेज रोशनी हो रही थी।

तीन सिस्टम कर रहे हैं काम
मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि एक द्रोणीका झारखंड से उत्तर तटीय आंध्र प्रदेश तक 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक दूसरी द्रोणिका उत्तर-पश्चिम उत्तर प्रदेश से उत्तर-पूर्व बंगाल की खाड़ी तक दक्षिण बिहार, उत्तर झारखंड और गंगेटिक पश्चिम बंगाल होते हुए मध्य समुद्र तल पर स्थित है। एक चक्रीय चक्रवाती घेरा पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है।

मौसम विभाग की ओर से जारी इस सेटेलाइट तस्वीर में पूरे छत्तीसगढ़ के ऊपर घने बादलों काे देखा जा सकता है।
मौसम विभाग की ओर से जारी इस सेटेलाइट तस्वीर में पूरे छत्तीसगढ़ के ऊपर घने बादलों काे देखा जा सकता है।

कल बस्तर क्षेत्र में हो सकती है भारी बरसात
मौसम विभाग के मुताबिक, 8 जुलाई को प्रदेश के अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ भारी वर्षा होने तथा आकाशीय बिजली गिरने की भी संभावना है। भारी वर्षा का क्षेत्र मुख्यतः दक्षिण छत्तीसगढ़ रहने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...