पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Weather Update; Heavy To Very Heavy Rain Is Possible At Some Places Of Raipur Durg And Bastar Divisions, Normal Rains Will Occur At Most Places

आज भी भारी बरसात के आसार:रायपुर-दुर्ग और बस्तर संभाग के कुछ स्थानों पर भारी से अति भारी बरसात संभावित, अधिकांश स्थानों पर होगी सामान्य बारिश

रायपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रायपुर में आज भी भारी बरसात की संभावना बनी हुई है। - Dainik Bhaskar
रायपुर में आज भी भारी बरसात की संभावना बनी हुई है।

मानसूनी मौसमी तंत्र की सक्रियता से छत्तीसगढ़ में आज भी भारी बरसात के आसार बने हुए हैं। मौसम विभाग ने रायपुर और दुर्ग संभाग के कुछ जिलों में भारी से अति भारी बरसात की संभावना जताई है। प्रदेश के अधिकांश जिलों में हल्की से मध्यम स्तर की वर्षा होने अथवा गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है।

कल की बरसात में रायपुर में ऐसे हालात बने थे।
कल की बरसात में रायपुर में ऐसे हालात बने थे।

शनिवार शाम हुई करीब डेढ़ घंटे की भारी बरसात ने रायपुर शहर को बाढ़ में फंसा दिया था। उसके बाद मौसम साफ हुआ तो दिन में भी आसमान में कम बादल दिख रहे हैं। कभी-कभी धूप भी निकल रही है। उमस बढ़ी हुई है। रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया, एक सुस्पष्ट चिन्हित निम्न दाब का क्षेत्र उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी और उससे लगे पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर स्थित है। इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। इस मानसून तंत्र के प्रबल होकर उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी और उससे लगे उत्तर उड़ीसा, पश्चिम बंगाल की खाड़ी के पर अवदाब में परिवर्तित होने की प्रबल संभावना है। इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ते हुए उत्तर ओडिसा और उत्तर छत्तीसगढ़ से गुजरने की प्रबल संभावना बन रही है।

मानसून द्रोणिका, दक्षिण-पश्चिम राजस्थान, शाजापुर, सिवनी, पेण्ड्रा रोड, संबलपुर और उसके बाद पूर्व-दक्षिण-पूर्व की ओर बंगाल की खाड़ी में स्थित निम्न दाब के केंद्र होते हुए 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। एक द्रोणिका, उत्तर-पूर्व अरब सागर से पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी तक पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और ओडिसा होते हुए 1.5 किलोमीटर से 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। इसके प्रभाव से आज प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की प्रबल संभावना है। बंगाल की खाड़ी में स्थित मौसमी तंत्र के कारण प्रदेश के बस्तर, रायपुर और दुर्ग संभाग के कुछ जिलों में एक दो स्थानों पर भारी से अति भारी वर्षा होने की संभावना है।

स्टेशन से लगे मोहल्लों में बाढ़ का पानी घरों में घुसा था।
स्टेशन से लगे मोहल्लों में बाढ़ का पानी घरों में घुसा था।

इन जिलों में अति भारी बरसात की चेतावनी

मौसम विभाग ने शनिवार को 15 सितम्बर तक का जो पूर्वानुमान जारी किया था, उसके मुताबिक कोरबा और गरियाबंद जिलों में अति भारी बरसात संभावित है। मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक किसी स्थान पर 24 घंटे में 115.6 से 204 मिलीमीटर तक की बरसात को अति भारी कहते हैं।

इन जिलों में भारी बरसात की संभावना है

मौसम विभाग ने जशपुर, रायगढ़, जांजगीर-चांपा, रायपुर, बलौदा बाजारा-भाटापारा, धमतरी, महासमुंद में भारी बरसात की संभावना जताई है। दुर्ग संभाग के कुछ जिलों और बस्तर में भी भारी बरसात हो सकती है। किसी स्थान पर 24 घंटे में 64.5 से 115.5 मिमी बरसात को भारी बरसात के रूप में दर्ज किया जाता है। कल रायपुर में एक डेढ़ घंटे में ही 30 मिमी पानी बरसा था।

कल भी कई जिलों में कुछ स्थानों पर ऐसी भारी बरसात की संभावना जताई गई है।
कल भी कई जिलों में कुछ स्थानों पर ऐसी भारी बरसात की संभावना जताई गई है।

कल भी भीगा-भीगा रहेगा मौसम

मौसम विज्ञानियों का अनुमान है कि सोमवार को भी प्रदेश का मौसम भीगा-भीगा ही रहेगा। प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। बिलासपुर संभाग और उससे लगे हुए सरगुजा, दुर्ग और रायपुर संभाग के कुछ जिलों में एक-दो स्थानों पर भारी से अति भारी वर्षा होने की प्रबल संभावना है। गरज चमक के साथ आकाशीय बिजली गिरने की संभावना भी बन रही है।

खबरें और भी हैं...