पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विकास कार्य:अटल नगर स्टेशन का नवा रायपुर में काम शुरू, अगले साल दिसंबर तक होगा तैयार

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मंदिरहसौद के तुरंत बाद होगा अटल नगर स्टेशन, नवा रायपुर में रेल लाइन बिछ गई

अमनेश दुबे | पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रेलवे स्टेशन अटल नगर मंदिरहसौद से 2 किमी दूर नवा रायपुर की ओर बनेगा। इसका काम शुरू हो गया और रेलवे ने यही नाम अपने रिकार्ड में दर्ज भी कर लिया। यहां तक रेलवे लाइन बिछ चुकी है, इसलिए माना जा रहा है कि नवा रायपुर में तैयार होने वाला यही पहला रेलवे स्टेशन होगा। इसे जंक्शन के रूप में डेवलप किया जाएगा। दिसंबर 2021 में इस स्टेशन को चालू करने की तैयारी है।
नवा रायपुर में रेललाइन बिछाने का काम लगभग तीन साल पहले शुरू हुआ था, लेकिन सरकार बदलने और कोरोना की वजह से काम बुरी तरह प्रभावित हुआ। फिर भी, लगभग 5 किमी रेलवे लाइन बिछ चुकी है। इसमें पुल-पुलिए भी बन चुके हैं। जिस स्टेशन का नाम अटल नगर किया गया है, उसका नाम पहले नवा रायपुर था। लेकिन हाल में तय हुआ कि पहले स्टेशन का नाम ही अटल पर रखा जाएगा। रायपुर जंक्शन से मंदिरहसौद तक जाकर जब ट्रेन नवा रायपुर की तरफ टर्न होगी, तब पहला स्टेशन अटल नगर ही पड़ेगा।
सरकार के बजट से ही स्टेशन : अटल नगर के अलावा उद्योग नगर और सीबीडी रेलवे स्टेशन बनाने का काम भी शुरू हो गया, लेकिन चौथे यानी मुक्तांगन स्टेशन का काम रोककर रखा गया है। इन स्टेशनों को बनाने का पूरा खर्च राज्य शासन व नवा रायपुर विकास प्राधिकरण (एनआरडीए) को उठाना है। अर्थात, अटल नगर समेत चारों स्टेशन राज्य सरकार ही बनवाएगी। लेकिन नवा रायपुर का केंद्री स्टेशन रेलवे को बनवाना है। यह नवा रायपुर का अंतिम स्टेशन होगा, जहां से अभनपुर और राजिम होते ही धमतरी तक नैरो गेज की जगह ब्राड गेज रेलवे लाइन बनने वाली है।

शॉपिंग मॉल नहीं होंगे
एनआरडीए जिस डिजाइन पर पहले स्टेशन बनाने की तैयारी कर रहा था, उसमें बदलाव कर दिए गए हैं। अटल नगर समेत तीन-चार स्टेशनों में शापिंग माल बनाए जाने थे। डिजाइन में इसका उल्लेख है, लेकिन खर्च आधा (160 करोड़ से घटाकर 85 करोड़ रुपए) करने की वजह से एनआरडीए को माॅल हटाने पड़े। यानी, अब चारों स्टेशन माॅडल नहीं, बल्कि सामान्य होंगे। यहां केवल वही सुविधाएं रहेंगी, जो आम स्टेशनों में रहती हैं। स्टेशन के भवनों का साइज भी घटा दिया गया है।

तीस साल की प्लानिंग
पांच साल पहले शासन और रेलवे के बीच अनुबंध के तहत नवा रायपुर और सीबीडी को मॉडल स्टेशन के तौर पर डेवलप करने की योजना थी। तय अनुबंध के मुताबिक एनआरडीए को 27 करोड़ रुपए देना था, जिसका भुगतान रेलवे की ओर से कर दिया गया। स्टेशनों की प्लानिंग ऐसी थी कि ये 30 साल तक उपयोगी रहें। लेकिन अब एनआरडीए ने तय किया है कि अब सामान्य सुविधाओं के हिसाब से स्टेशन बनेंगे। भविष्य में जरूरत होगी तो इनका विस्तार कर लिया जाएगा।

रेल बजट में मिली राशि : रेलवे ने अपने बजट में नवा रायपुर लाइन समेत तीन प्रोजेक्ट के लिए 146 करोड़ रुपए का प्रावधान कर दिया गया है। यह काम बजट के अभाव में ही रुका था। अफसरों ने बताया कि इस राशि से नवा रायपुर की मंदिरहसौद-केंद्री रेललाइन का काम तेज होगा, जो एक साल लेट हो चुका है।

"नए स्टेशन का नाम अब अटल नगर होगा। पहले इसे नया रायपुर के नाम से प्रस्तावित किया गया था। लेकिन अब रेलवे के रिकॉर्ड में भी अटल नगर स्टेशन के नाम को शामिल कर लिया गया है।"
-अनिल श्रीवास्तव, एसई, एनआरडीए

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें