पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से जंग:हेल्पिंग हैंड्स कोविड केयर सेंटर में 35 से अधिक लोगों का हुआ इलाज, 3 डिस्चार्ज, 4 का इलाज जारी

पंडरिया13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नगर के कुकदूर मार्ग पर कन्या छात्रावास में चल रहे हेल्पिंग हैंड्स कोविड केयर सेंटर में अब तक 35 से अधिक लोगों का इलाज हो चुका है। इसमें 8 को रेफर किया गया था। सेंटर से 3 मरीज स्वस्थ्य होकर डिस्चार्ज हुए। 4 मरीजों का इलाज अभी चल रहा है। करीब 20 से अधिक मरीज ऐसे हैंं, जो घर में रहकर सेंटर की सलाह पर इलाज ले रहे हैं और होम क्वारेंटाइन हैं।

35 से अधिक मरिज कोविड केयर सेंटर से लाभ प्राप्त कर चुके हैं। इस कोविड सेंटर के खुलने से अब जिनके पास आइसोलेशन की सुविधा नहीं है, उन्हें सुविधा मिल रही है। साथ ही डॉक्टर की टीम की निगरानी से सुरक्षा भी मिल रही है। क्षेत्र के लोगों को पॉजिटिव होने पर सामान्य मरीज को अब कवर्धा स्थित कोविड जाना नहीं पड़ रहा है। शनिवार को विशेसरा निवासी 15 वर्षीय नंदिता मानिकपुरी को इलाज के बाद डिस्चार्ज किया गया। नंदिता ने बताया कि वे अब पूर्ण रूप से स्वस्थ्य हैं। सेंटर में उन्हें सभी सुविधाएं मिली है। सुबह-शाम ऑक्सीजन, बुखार, ब्लड प्रेशर सहित अन्य जरूरी जांच की जाती थी। सुबह चाय, नाश्ता, दोपहर भोजन, काढ़ा व शाम व रात में नाश्ता, भोजन दिया गया। इसके पहले दो और मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौट चुके हैं।

नगर के व्यापारी संघ की ओर से 2 लाख 17 हजार रुपए का आर्थिक सहयोग दिया गया। शिक्षकों ने एक कंसेट्रेटर मशीन दी। पूर्व विधायक मोतीराम चंद्रवंशी ने दो जम्बो ऑक्सीजन सिलेंडर व 21 हजार रुपए का आर्थिक सहयोग किया। अन्य व्यवसायियों की ओर से भी सहयोग दिया जा रहा है। समिति के आशीष जैन, मोहन राजपूत व अनुराग ठाकुर ने बताया कि यह कोविड सेंटर पूर्ण रूप से जनसहयोग से चल रहा है। विगत वर्ष भी हेल्पिंग हैंड्स टीम ने 9000 से अधिक लोगों को जनसहयोग के माध्यम से भोजन व जरूरतमंद परिवारों को सूखा राशन उपलब्ध कराया था।

10 अप्रैल को हुआ था सेंटर शुरू
इस कोविड सेंटर का उद्घाटन 10 अप्रैल को पंडरिया विधायक ममता चन्द्राकर ने किया था। 13 मई से मरीज आने की शुरुआत हो गई। नगरवासी लंबे समय से नगर में कोविड सेंटर खोलने की मांग कर रहे थे। नहीं खोले जाने पर हेल्पिंग हैंड्स टीम की ओर से यह कोविड सेंटर शुरू किया गया।

निजी डॉक्टर कर रहे सहयोग
कोविड सेंटर के संचालन में नगर के निजी डॉक्टर की अहम भूमिका रही है। इसमें डॉक्टर विकास पांडेय, भूपेंद्र चंद्रकार, शेखर वैष्णव, आरके बैस, वीरेंद्र सिंह, किशोर यादव सहित अन्य स्टाफ नियमित नि:शुल्क सेवा दे रहे हैं। दो स्टाफ 24 घंटे अपनी सेवाएं दे रहे हैं। सुबह व शाम को डॉक्टर विजिट करते आते हैं।

खबरें और भी हैं...