परेशानी / दर्राभांठा-बी के ग्रामीणों को राशन नहीं मिला, अफसरों पर लापरवाही का आरोप

Villagers of Darrabhantha-B did not get ration, accusing officers of negligence
X
Villagers of Darrabhantha-B did not get ration, accusing officers of negligence

  • अफसरों का जवाब - दर्राभांठा-ए में है नाम, राशन नहीं उठाए इसलिए लैप्स हो गया

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

सरायपाली. आज पूरा देश कोरोना संकट से लड़ रहा है। राज्य सरकार द्वारा इस संकट की घड़ी में राशन कार्डधारियों को राहत दिलवाने 2 माह का एडवांस में राशन देने के लिए निर्देशित किया गया था। अधिकारियों की लापरवाही की वजह से दर्राभांठा-बी गांव में एपीएल हितग्राहियों को राशन नहीं मिलने का आरोप ग्रामीणों ने लगाया है। लगातार अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के चक्कर लगाने के बाद भी ग्रामीणों को दो माह का राशन नहीं मिल पाया है।
 ग्राम दर्राभांठा बी के एपीएल राशन कार्डधारी अनुराधा भोई, कुंजलता पटेल, कमला बीसी, कुंवर मोती चौधरी, कस्तूरी प्रधान, कोकिया बारीक, देवकी पटेल, नरसिंह पटेल, प्रेमबाई पटेल, पुष्पलता बारीक, ममता पटेल, माधुरी, यशोधरा पटेल रूपई नायक, रत्नावती चौधरी, ललिता बाई , वसुंधरा पटेल, लक्ष्मी देहरी, संजना देहरी आदि ने बताया कि उन्हें राशन कार्ड नहीं मिला है, लेकिन उनके नाम से राशन जारी हो रहा है। फरवरी में उनका राशन दरार्भांठा ए में चला गया था, जिसकी जानकारी फूड इंस्पेक्टर ने दी थी और उनके द्वारा कार्डधारियों को कहा गया था कि वहां से 1 माह का राशन ले आओ। आप लोगों के नाम को वहां से हटाकर दर्राभाठा बी में जोड़ दिया जाएगा। ग्रामीण 1 माह का राशन वहां से ले आए। साथ ही सरपंच को जानकारी देकर नाम को वहां से हटवाकर दर्राभाठा बी में जोड़ने निवेदन किया, लेकिन उसके बाद उन्हें मार्च और अप्रैल में राशन नहीं दिया गया। जब हितग्राहियों द्वारा जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से संपर्क किए तो उन्हें जवाब मिला कि आपने दरार्भांठा ए में मार्च-अप्रैल का राशन नहीं उठाए इसी कारण आप लोगों का राशन लैप्स हो गया है। आप लोगों को मार्च और अप्रैल का राशन नहीं मिलेगा।
गलती करने वालों पर हो कार्रवाई : कई ग्रामीणों ने कहा सूचना देने के बाद भी अधिकारियों ने उनके नाम को दर्राभांठा ए से क्यों नहीं हटाया। उन्हें दर्राभांठा बी में राशन क्यों नहीं दिया जा रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि अधिकारियों द्वारा उनके नाम को जानबूझकर दर्राभांठा बी में होते हुए भी दर्राभांठा ए में नाम को जोड़ा गया है, इसकी जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। एपीएल कार्डधारियों के साथ ही अधिकारियों द्वारा सौतेला व्यवहार किया जा रहा है, जबकि बीपीएल कार्डधारियों को गांव में ही प्रति माह राशन मिल रहा है। गांव के सभी एपीएल कार्ड धारियों का नाम अन्य गांव में जुड़ जाना भी संदेहास्पद है। 
मई का राशन दर्राभांठा-बी में मिलेगा : खाद्य निरीक्षक
इस मामले में खाद्य निरीक्षक गौरव जात्रे ने बताया कि दर्राभांठा बी के एपीएल कार्डधारियों का नाम गलती से दर्राभांठा ए में चला गया था और उन्हें वहां से ही राशन उठाने की बात कही गई थी। राशन नहीं उठाने के कारण उनका एक माह का राशन लैप्स हो गया है। उनके नाम को वहां से हटाकर दर्राभांठा बी में जोड़ दिया गया है। मई का राशन उन्हें दर्राभांठा-बी में मिल जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना