पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लगातार हो रही मौतों से दहशत:सिरपुर में 11 दिन में 12 मौतें, 2 वार्डों में 5 कंटेनमेंट बनाए

सिरपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • फिर भी जांच कराने से डर रहे लोग, 7 हजार में से अब तक 80 ने कराई जांच

ग्राम सिरपुर में मौतों का सिलसिला थम नहीं रहा है। गांव में 11 दिन में 11 और इससे जुड़े निंबापुर में एक मौत सहित अब तक 12 मौतें हो चुकी हैं। निंबापुर निवासी युवक और सिरपुर निवासी महिला की सोमवार को मौत हुई। वहीं मंगलवार को सिरपुर निवासी एक व्यक्ति की मौत हुई। मरने वाले किसी भी व्यक्ति में कोरोना की पुष्टि नहीं हुई है। सिरपुर के 2 वार्डों में प्रशासन ने 5 कंटेनमेंट बनाए हैं। इनमें 80 परिवार कैद हैं। लगातार हो रही मौतों के बाद भी लोग जांच कराने में डर रहे हैं। गांव की 7 हजार की आबादी में से अब तक 80 लोगों ने ही जांच कराई है।

स्वास्थ्य विभाग ने यहां फीवर क्लीनिक लगाया है। अमले द्वारा लोगों की जांच कर जरूरी दवाओं की किट दी जा रही है। निंबापुर निवासी 42 वर्षीय कड़ू पिता ब्रजलाल ने सोमवार को औरंगाबाद में दम तोड़ा। उसका शव गांव लाकर अंतिम संस्कार किया। सिरपुर निवासी 60 वर्षीय बनाबाई पति भिखारी ने बुरहानपुर के अस्पताल में दम तोड़ा। तबीयत खराब होने पर यहां उसका 3-4 दिन से इलाज चल रहा था। शव गांव लाकर सोमवार रात 9.30 बजे उसका अंतिम संस्कार किया गया। मंगलवार को उपभोक्ता अधिकार संगठन से जुड़े 60 वर्षीय मोहन बलीराम पाटील की मौत हो गई। तबीयत खराब होने पर उन्हें बुरहानपुर के अस्पताल ले जाया गया था। यहां उन्होंने दम तोड़ दिया। कोरोना संक्रमण के बीच गांव में पहली मौत 27 मार्च हो हुई थी। इसके बाद से मौतों का सिलसिला लगातार जारी है।

दोनों वार्ड में अधिकांश किसान और दूध उत्पादक, बोले- हो रहा नुकसान
गांव के वार्ड क्रमांक 2 और 3 में कंटेनमेंट बनाया गया है। एक वार्ड में 35 और दूसरे वार्ड में 45 परिवार कैद हैं। यहां अधिकांश परिवार किसान और दूध उत्पादक हैं। तीन दिन से वार्ड सील किए जाने के कारण किसान खेतों में नहीं जा पा रहे हैं। दूध उत्पादक दूध प्रदाय नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में खेतों में फसलें सूख रही हैं। दूध उत्पादक ओमप्रकाश गोवर्धनदास, अनिल राजाराम, मयूर भोजराज और गोविंद लक्ष्मण ने बताया गांव से रोजाना सुबह-शाम 800 लीटर दूध बुरहानपुर जाता था। हमने वहां के डेयरी वालों से लाखों रुपए कर्ज लेकर मवेशी खरीदे हैं। घरों में कैद होने से बड़ा नुकसान हो रहा है। ऐसे में परिवार चलाना मुश्किल हो रहा है। कर्ज कैसे चुकाएंगे।

इससे पहले इनकी हो चुकी मौत
27 मार्च- 75 वर्षीय सोमलीबाई पति उखा
28 मार्च- 60 वर्षीय सुगंताबाई पति लक्ष्मण, 35 वर्षीय प्रहलाद पिता बबन
30 मार्च- सुगंताबाई के 48 वर्षीय बेटे सूर्यकांत, प्रहलाद के 65 वर्षीय पिता बबन कालू
31 मार्च- 65 वर्षीय त्र्यंबक पिता दगड़ू
3 अप्रैल- 23 वर्षीय मयूर पिता बाबूलाल

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

    और पढ़ें