पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बाजार की आंखों देखी:4 दिन की सब्जी 300 की, माह में लग रहे ढाई हजार

सुहेला7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • धनिया 200, सेमी 120, मुनगा-गवारफल्ली 80, भटा-बरबट्टी और करेला 60 रुपए किलो

कोरोना काल में मंगलवार के स्थानीय साप्ताहिक बाजार में इस बार सब्जियों की कीमतों में मानो आग लगी थी। बाजार में आलम यह था कि खेक्सी और सेमी 120रुपये प्रति किलो, मुनगा और गवारफल्ली 80, भटा- बरबट्टी और करेला 60, आलू और टमाटर 50 तो माह भर पहले 8 से 10 में बिकने वाली भिंडी की कीमत 40 रुपए प्रति किलो थी जबकि लौकी 30 प्रति किलो और धनिया पत्ती की कीमत 200 रुपये प्रति किलो थी। धरमशीला सोनी और रेखा साहू ने बताया कि 4 दिन के लिए 300 रुपये की सब्जी ले जा रही हैं। इस हिसाब से महीने में केवल सब्जी की खपत दो से ढाई हजार रुपए की होती है तो अन्य खर्च कैसे मेंटेन कर पाएंगी। अनेक लोग तो सब्जियों के केवल दाम पूछकर ही निकल रहे थे। बाजार में सब्जी लेने पहुंचे आलोक मनीष और विवेक वर्मा ने बताया कि 4 से 5 सदस्यों के लिए 250 रुपए में 4 दिन की सब्जी पाव-पाव तौलवाकर ले रहे हैं।

6 माह से सारे काम धंधे बंद, बोहनी को तरसी रुक्मणि
लोगों का कहना है कि कोरोना के खौफ में बीते 6 माह से खेती के अलावा सारे काम धंधे बंद हैं जिसके कारण किसी के भी हाथ में पैसा नहीं है जबकि महंगाई दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। इस कारण आम लोगों का घर चलाना अब दूभर हो गया है। भाटापारा से सब्जी बेचने आए राजू देवांगन और पुनीत वर्मा ने बताया कि लोगों के हाथ में पैसा नहीं है और महंगाई बढ़ती जा रही है। सब्जी बेचने वाली रुक्मणि निषाद ने बताया कि 3 बजे से बाजार में बैठी हूं पर बोहनी तक नहीं हो पाई है।

एक किलो आलू-प्याज में 100 रुपए खर्च हो गए मजदूर के : कृषि मजदूरी करने वाली गायत्री पॉल ने बताया कि एक-एक किलो आलू और टमाटर में 100 रुपये खत्म हो गए जबकि ले देकर दिन भर में इतना ही कमा पाती हूं, बाकी खर्च कैसे चलेगा पता नहीं। तिलक वर्मा और राजेश ने बताया कि सारे पैसे खेती में लग चुके हैं। कामकाज सब बंद है आखिर इतनी महंगाई में घर कैसे चल पाएगा।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें